जरूरी खबर: दिन रात मोबाइल चलाता था युवक, बिगड़ा दिमागी संतुलन! परिजनों को नहीं पहचान रहा
X

जरूरी खबर: दिन रात मोबाइल चलाता था युवक, बिगड़ा दिमागी संतुलन! परिजनों को नहीं पहचान रहा

परिजनों ने जब युवक को अजीब हरकतें करते देखा तो उन्होंने उसे अस्पताल में भर्ती कराया है. फिलहाल उसका इलाज चल रहा है. 

जरूरी खबर: दिन रात मोबाइल चलाता था युवक, बिगड़ा दिमागी संतुलन! परिजनों को नहीं पहचान रहा

नई दिल्लीः आज तकनीक के युग में स्मार्टफोन हमारी जिंदगी का अभिन्न हिस्सा बन गया है लेकिन मोबाइल पर निर्भरता अब लत का रूप ले रही है. अब इसे लेकर राजस्थान से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है. दरअसल राजस्थान के चूरू जिले में रहने वाले एक युवक का मोबाइल की लत के चलते दिमागी संतुलन बिगड़ गया है. अब युवक ना अपने परिजनों को पहचान पा रहा है और अजीब हरकतें कर रहा है! फिलहाल युवक का अस्पताल में इलाज चल रहा है. 

दिन-रात चलाता था मोबाइल
घटना राजस्थान के चूरू जिले के साहवा गांव की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यहां रहने वाला 20 साल का अकरम मोटर बाइंडिंग का काम करता था. वह मोबाइल पर बहुत ज्यादा समय बिताता था लेकिन बीते दो माह से उसे मोबाइल चलाने की लत लग गई थी. हालत ये हो गई कि युवक दिन रात मोबाइल पर ही लगा रहने लगा और इसके चलते वह सोता भी नहीं था. 

रिपोर्ट्स के अनुसार, युवक ने काम धंधा भी छोड़ दिया था वह दिन रात मोबाइल पर गेम खेलता और फिल्में देखता रहता था. परिजनों के अनुसार, बीते कई दिनों से वह मोबाइल चलाने के चक्कर में खाना-पीना भी नहीं खा रहा था. बीते 5 दिनों से सोया भी नहीं था. इससे युवक का मानसिक संतुलन गड़बड़ा गया है. परिजनों ने जब युवक को अजीब हरकतें करते देखा तो उन्होंने उसे अस्पताल में भर्ती कराया है. फिलहाल उसका इलाज चल रहा है. 

क्या कहती है रिसर्च
बता दें कि मोबाइल की लत और दिमाग पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर रिसर्च भी हुई हैं. अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ की एक रिपोर्ट के अनुसार, जिन किशोर नौजवानों को मोबाइल की लत है, उनमें आत्महत्या करने का खतरा ज्यादा होता है. स्मार्टफोन से मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है और इसकी लत से लोगों में तनाव, डिप्रेशन, गुस्सा ज्यादा पाया जाता है. 

Trending news