बड़ी सफलताः 40 लाख के इनामी नक्सली की मौत, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ में था आतंक का पर्याय

छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में सक्रिए 40 लाख के इनामी नक्सली कमांडर की मौत हो गई है. 

बड़ी सफलताः 40 लाख के इनामी नक्सली की मौत, तेलंगाना और छत्तीसगढ़ में था आतंक का पर्याय
40 लाख का इनामी नक्सली

पवन दुर्गम/बीजापुर: पुलिस ने तेलंगाना और छत्तीसगढ़ में सक्रिए एक बड़े नक्सली के मारे जाने का दावा किया गया है. पुलिस ने माओवादियों की सेंट्रल कमेटी के मेंबर और तेलंगाना में नक्सलियों की स्टेट कमेटी के सेक्रेटरी हरिभूषण की मौत होने का दावा किया है. पुलिस का कहना है कि बीमारी की वजह से उसकी मौत हुई है. हरिभूषण पर 40 लाख रुपयों के इनाम की घोषणा सरकार की ओर से की गई थी. बताया जा रहा है कि छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग और तेलंगाना की सीमा पर ये लंबे समय से सक्रिय था. बस्तर संभाग के दंतेवाड़ा एसपी डॉक्टर अभिषेक पल्लव ने हरिभूषण के मौत की पुष्टि की है.

मौत का कारण स्पष्ट नहीं 
एसपी डॉक्टर अभिषेक पल्लव ने बताया कि  "छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के मिनागट्टा गांव में 21 जून को फ़ूड पॉइज़निंग या कोरोना की वजह से हरिभूषण की मौत की सूचना मिली है. आधा दर्जन से अधिक माओवादी नेता अभी भी गंभीर रूप से बीमार हैं." उन्होंने बताया कि जानकारी के मुताबिक तेलंगाना के महबूबाबाद जिले के कोट्टागुडा क्षेत्र के मारिगुडा गांव के मूल निवासी हरिभूषण उर्फ  यापा नारायण साल 1995 में पीपुल्स वार गुरिल्ला में शामिल हुआ था. फिलहाल वह माओवादी पार्टी के तेलंगाना सचिव के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा था. 

40 लाख रुपए का था इनाम 
पिछली कुछ मुठभेड़ों में हरिभूषण बच गया. बताया जाता है कि हरिभूषण ने तेलंगाना-छत्तीसगढ़ सीमा पर हाल के कई हिंसा की घटनाओं में अहम भूमिका निभाई है. पुलिस ने उस पर 40 लाख रुपए का इनाम रखा था. वह लंबे समय से तेलंगाना और छत्तीसगढ़ में सक्रिय है. लेकिन कोरोना संक्रमण ने इस बार नक्सल कैंपों में भी दस्तक दे दी. जिसके बाद से अब तक बताया जा रहा है कि कई नक्सली कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं. 

दो माह में 5 बड़े नक्सल नेताओ की हो चुकी है मौत
हरिभूषण की मौत माओवादियों को लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. 27 मई से 20 जून के बीच में माओवादियों के 5 बड़े हार्डकोर लीडर की मौत हो गई है. इनमें से 4 की मौत बीमारी से हुई. जबकि एक नकस्ली पुलिस एनकाउंटर में मारा गया है. हरिभूषण के अलावा कट्टी मोहन उर्फ प्रकाश, दामू दादा, कुरसम गंगैया ऊर्फ आयतु और रबिन्द्र ओडिशा ये सभी नक्सलियों के बड़े लीडर बताए जा रहे हैं. 

ये भी पढ़ेंः मंडला में नक्सलियों की मूवमेंट पर बोले केंद्रीय मंत्री- नक्सली भी इंसान हैं, उन्हें भी भोजन की जरूरत है

WATCH LIVE TV