अब लाइसेंस बनवाना हुआ आसान, आरटीओ के चक्कर लगाए बिना घर बैठे ऐसे बनवाएं...

रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट का रीन्युअल 60 दिन पहले ही करा सकते हैं. सड़क और परिवहन मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस बनाने और इसके रिन्युअल के लिए नई गाइडलाइन जारी की है. जिसके बाद आरटीओ के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे. 

अब लाइसेंस बनवाना हुआ आसान, आरटीओ के चक्कर लगाए बिना घर बैठे ऐसे बनवाएं...

नई दिल्ली: ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आरटीओ के चक्कर लगाने ही पड़ते हैं. लेकिन कोरोना काल में घर से निकलना भी खतरे से खाली नहीं है. अगर आपको ड्राइविंग लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट से जुड़ा कोई भी काम करवाना है तो   घर बैठे ही करवा सकते हैं. सरकार के नए नियम के तहत अब वाहन चालकों को आरटीओ के चक्कर काटने की जरूरत नहीं है.ऑनलाइन ही आप सारे काम करवा सकते हैं.

अब आप रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट का रीन्युअल 60 दिन पहले ही करा सकते हैं. सड़क और परिवहन मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस बनाने और इसके रिन्युअल के लिए नई गाइडलाइन जारी की है. जिसके बाद आरटीओ के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे. 

1.आपको आधिकारिक आरटीओ वेबसाइट पर जाना होगा जो कि https://parivahan.gov.in/parivahan/ है.

2. होमपेज पर, आपको उस सेवा पर क्लिक करना होगा जिसका आप स्वयं लाभ उठाना चाहते हैं. उदाहरण के लिए: अगर आप लर्नर लाइसेंस के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो आपको "ड्राइवर/लर्नर्स लाइसेंस" ऑप्शन को सिलेक्ट करना होगा.

3. अगले पेज पर आपको अपने राज्य को सिलेक्ट करना होगा, जिसके आधार पर आप जांच सकते हैं कि सुविधा पूरी तरह से ऑनलाइन उपलब्ध है या आपको आरटीओ कार्यालय जाना है.

नए नियम के मुताबिक लर्नर लाइसेंस बनवाने की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी, अप्लाई से लेकर लाइसेंस की छपाई तक. इसके अलावा, इलेक्ट्रॉनिक प्रमाण पत्र और दस्तावेजों का इस्तेमाल चिकित्सा प्रमाण पत्र, शिक्षार्थी लाइसेंस, ड्राइविंग लाइसेंस अप्लाई और इसके रिन्यूअल के लिए किया जा सकता है.

गौरतलब है कि इस तरह की गाइडलाइंस लाने के पीछे मकसद यह है कि नए वाहन के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को भी आसान बनाया जा सके. पंजीकरण प्रमाण पत्र (आरसी) का रिन्यूअल अब 60 दिन पहले किया जा सकता है. इसके अलावा अस्थाई पंजीकरण की समय सीमा भी 1 माह से बढ़ाकर 6 माह कर दी गई है.

सरकार ने लर्नर्स लाइसेंस की प्रक्रिया में बदलाव को भी आसान बनाया है. अब आपको ड्राइविंग टेस्ट के लिए आरटीओ जाने की जरूरत नहीं है. टेस्टिंग अब ट्यूटोरियल के माध्यम से घर पर ऑनलाइन लिया जा सकता है, जिससे उन सभी लोगों के लिए इस कठिन समय में डीएल प्राप्त करना आसान हो जाता है. मार्च के अंत में, देश भर में कोविड-19 संकट को देखते हुए सड़क और परिवहन मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस (DL), पंजीकरण प्रमाणपत्र (RC), फिटनेस प्रमाणपत्र और परमिट जैसे मोटर वाहन दस्तावेजों की वैधता को 30 जून 2021 तक बढ़ा दिया है.

मंत्रालय ने एक सर्कुलर जारी कर कहा कि पूरे देश में कोरोना के बिगड़ते हालात को देखते हुए 1 फरवरी 2020 को समाप्त हो चुके इन दस्तावेजों को अगले 30 जून 2021 तक वैध माना जाएगा.