सोशल मीडिया पोस्ट पड़ी भारीः 2 गिरफ्तार, लाइक और कमेंट करने वाले 3 पर मामला दर्ज

आपत्तिजनक सोशल मीडिया पोस्ट सामने आने के बाद प्रशासन ने जिले में रैलियों और सामुदायिक कार्यक्रमों को लेकर नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं.

सोशल मीडिया पोस्ट पड़ी भारीः 2 गिरफ्तार, लाइक और कमेंट करने वाले 3 पर मामला दर्ज
मंदसौर के डोराना गांव में धार्मिक स्थल पर झंडा बदलने का वीडियो शेयर किया गया था

मंदसौरः मध्यप्रदेश के कुछ शहरों में पिछले दिनों सामुदायिक रैली के दौरान पत्थरबाजी की घटनाएं सामने आई थी. पिछले एक हफ्ते में उज्जैन शहर से पहली बार इस तरह की घटना सामने आने के बाद मंदसौर के डोराना गांव में धार्मिक स्थल पर झंडा बदलने की घटना हुई. उसी वक्त का एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले 2 लोगों को हिरासत में लिया गया है.

यह भी पढ़ेंः- 2 लाख में पुलिस वाले से खरीदी कार, कागज मांगने पर भी नहीं दिए, अब उठा ले गए गाड़ी

लाइक कमेंट करने वाले 3 पर मामला दर्ज
सोशल मीडिया पर डोराना गांव की वीडियो पोस्ट करने वाले एक युवक को अफजलपुर के रिंडा गांव से गिरफ्तार किया है. जिस पोस्ट पर लाइक व कमेंट करने वाले 3 अन्य लोगों के खिलाफ धारा 505 (2) 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है. वहीं एक नाबालिग को संजीत गांव से हिरासत में लिया गया है. संजीत गांव के युवक की सोशल मीडिया पोस्ट के खिलाफ भी पुलिस ने मामला दर्ज किया है.

यह भी पढ़ेंः- 14 हजार किसानों के खाते में नहीं पहुंचे PM सम्मान निधि के पैसे! करोड़ों रुपये अटके, ये है वजह

सांप्रदायिक भावनाओं को आहत कर सकती है पोस्ट
दोनों की गिरफ्तारी के बाद कलेक्टर मनोज पुष्प से इस बारे में बात की गई. उन्होंने कहा कि दोनों युवकों द्वारा की गई सोशल मीडिया पोस्ट धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली है. इससे सांप्रदायिक दंगे भड़क सकते हैं. इसी को देखते हुए प्रशासन ने जिले में रैली और अन्य तरह के प्रदर्शन के लिए नई गाइडलाइंस लागू कर दी है. इसके बाद भी अगर किसी तरह की आपत्तिजनक पोस्ट सोशल मीडिया पर शेयर की जाती है तो उस स्थिति में सोशल मीडिया हैंडल के एडमिन के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी.

क्या हैं नई गाइडलाइंस
जिले में साम्प्रदायिक सौहार्द्र व कानून व्यवस्था बनी रहे, इसलिए मंदसौर जिले में दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश पारित किया गया है. इसके अनुसार किसी भी व्यक्ति अथवा सम्प्रदाय या समूह संबंधित काम करने पर प्रशासन अथवा कलेक्टर से अनुमति लेनी होगी. बिना अनुमति के जिले में किसी भी प्रकार के जुलूस, मौन जुलूस, रैली, सभा, आमसभा, धरना प्रदर्शन रैली या बंद का आयोजन नहीं होगा.

यह भी देखेंः- Video: मध्य प्रदेश के 16 जिलों में सीवीयर कोल्ड डे, चंबल में लोगों को अलाव का सहारा

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट प्रतिबंधित
आने वाले त्योहारों या पर्वों के दौरान धार्मिक स्थलों पर गुलाब फेंकना एवं अशोभनीय नारेबाजी करने पर प्रतिबंध रहेगा. सोशल मीडिया साइट्स जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्वीटर, इंस्टाग्राम आदि पर आपत्तिजनक सामग्री नहीं डाली जाएगी. न ही ऐसी सामग्री पर कमेंट्स/क्रॉसकमेंट्स या फॉरवर्ड किए जायेंगे. खास तौर पर ऐसी पोस्ट जिसके कारण सामाजिक भावनाएं प्रभावित हों. गाइडलाइंस का उल्लंघन करने वालों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी. 

यह भी देखेंः- न्यू ईयर से पहले इस Video में जान लें सरकार की गाइडलाइंस, नहीं तो होगी परेशानी

यह भी देखेंः-नए साल से FASTag अनिवार्य, जानें इससे जुड़ी हर जानकारी इस Video में

WATCH LIVE TV