शिवराज सरकार ने 9 जिलों को दिया मेडिकल कॉलेज, महेश्वर को नहीं, भड़क गईं विजयलक्ष्मी साधौ

मध्य प्रदेश के बजट में इस बार 9 जिलों में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की घोषणा हुई है. लेकिन महेश्वर के लिए मेडिकल कॉलेज की घोषणा नहीं होने पर कांग्रेस विधायक विजयलक्ष्मी साधौ ने शिवराज सरकार पर निमाड़ के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया है.  

शिवराज सरकार ने 9 जिलों को दिया मेडिकल कॉलेज, महेश्वर को नहीं, भड़क गईं विजयलक्ष्मी साधौ
सीएम शिवराज और विजयलक्ष्मी साधौ (फाइल फोटो)

भोपालः मध्य प्रदेश के बजट में इस बार प्रदेश के 9 जिलों में मेडिकल कॉलेज खोले की घोषणा की गई है. लेकिन पर्यटन नगरी महेश्वर में मेडिकल कॉलेज की घोषणा नहीं होने पर महेश्वर से कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा है. उनका कहना है कि बजट में जिन शहरों में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की घोषणा की गई उनमें महेश्वर का नाम शामिल नहीं था. जबकि महेश्वर में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की योजना प्रस्तावित थी. 

निमाड़ के साथ किया सौतेला व्यवहार 
पूर्व मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ ने ट्वीट करते हुए लिखा कि "कमलनाथ सरकार द्वारा महेश्वर में मेडिकल कॉलेज खोला जाना प्रस्तावित था. लेकिन आज बजट में महेश्वर के मेडिकल कॉलेज का नाम हटा कर शिवराज सरकार ने चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में निमाड़ के साथ सौतेला व्यवहार किया है." इसलिए वह शिवराज सरकार से पूछना चाहती है कि बजट में सबका नाम लिया लेकिन महेश्वर को ड्रॉप क्यों कर दिया.

ये भी पढ़ेंः बजट में इस जिले को मिली मेडिकल कॉलेज की सौगात, बीजेपी-कांग्रेस में श्रेय लेने की मची होड़

विजयलक्ष्मी साधौ का कहना है निमाड़ अंचल में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की मांग लंबे समय से चल रही है. जब प्रदेश में कमलनाथ सरकार बनी तो महेश्वर में मेडिकल कॉलेज खोले जाने का प्रस्ताव तैयार किया गया था. लेकिन शिवराज सरकार बनने के बाद महेश्वर में मेडिकल कॉलेज खोले जाने का प्रस्ताव की तरफ ध्यान नहीं दिया गया है. विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा कि इलाज के लिए यहां के लोगों को दूसरे शहरों का रूख करना पड़ता है, इसलिए महेश्वर में मेडिकल कॉलेज खोला जाना चाहिए. 

इन जिलों में खोले जाएंगे मेडिकल कॉलेज 
वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने बजट में 9 जिलों में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की घोषणा की है. जिनमे  श्योपुर, राजगढ़, मंडला, सिंगरौली, नीमच, मंदसौर, दमोह, छतरपुर और सिवनी शामिल है. इन सभी जिलों में मालवा-निमाड़ अंचल का कोई जिला शामिल नहीं है. जिस पर कांग्रेस ने ऐतराज जताया है. 

ये भी पढ़ेंः शिवराज सरकार के बजट में सिंधिया के गढ़ ग्वालियर-चंबल का रखा गया ख्याल, जानें क्या मिला

WATCH LIVE TV