कोरोना से गई 35 साल के युवक की जान, अस्पताल ने लाखों रुपए का बिल भरवाए बिना नहीं दी डेड बॉडी

हैरानी की बात ये है इतने महंगे इलाज के बाद भी दो दिन में कोरोना संक्रमित 35 वर्षीय युवक की जान चली गई, जिसके बाद मृतक के परिजनों ने जमकर हंगामा कर दिया.

कोरोना से गई 35 साल के युवक की जान, अस्पताल ने लाखों रुपए का बिल भरवाए बिना नहीं दी डेड बॉडी
फाइल फोटो.

जबलपुर/कर्ण मिश्राः कोरोना लोगों के लिए जान का दुश्मन बनकर आया है. लेकिन कुछ लोग हैं जो इस कोरोना महामारी के बीच आपदा को भी अवसर बनाकर जमकर लूट कर रहे हैं. ताजा मामला जबलपुर के सेंट्रल किडनी अस्पताल से सामने आया है, जहां एक दिन का इलाज का खर्चा एक लाख रुपये है. हैरानी की बात ये है इतने महंगे इलाज के बाद भी दो दिन में कोरोना संक्रमित 35 वर्षीय युवक की जान चली गई, जिसके बाद मृतक के परिजनों ने जमकर हंगामा कर दिया.

35 साल के युवा की हुई मौत
शहर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर बहुत खतरनाक है। शुरुआत में 70 की उम्र के आसपास वाले लोगों की ज्यादातर मौतें हो रहीं थी और बाकी लोग ठीक हो रहे थे, लेकिन अब कम उम्र वाले भी इस बीमारी का शिकार हो रहे है. सेंट्रल किडनी अस्पताल में एक 35 साल के युवा को दो दिन पहले भर्ती किया गया था, लेकिन इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई. परिजनों का कहना है कि युवक की मृत्यु के बाद अस्पताल ने दो दिन का दो लाख 10 हजार रुपये का बिल थमा दिया था. 

मौके पर पहुंचे तहसीलदार ने 10,000 रुपये देने की बात कही, लेकिन इतने पैसे में भी अस्पताल मरीज का शव देने को तैयार नहीं था. इसके बाद परिजनों ने हंगामा मचा दिया. इसके बावजूद भी अस्पताल प्रबंधन अपनी गलती मानने को तैयार नहीं है आखिर में परिजनों को एक लाख 10 हजार देने पड़े, जिसके बाद शव उन्हें सौंपा गया.

प्रशासन का डर खत्म!
इस घटना ने जबलपुर शहर में कोरोना के इलाज के नाम पर अस्पतालों में हो रही लूट खसूट की पोल खोल कर रख दी है. साफ जाहिर होता है कि चिकित्सा माफिया को प्रशासन का भी डर नही है.

सरकार और हाईकोर्ट के निर्देश भी धराशायी!
प्रदेश सरकार कोरोना के इलाज के लिए जरूरी खर्चों के चार्ज को डिस्प्ले करने का निर्देश हाइकोर्ट के निर्देश पर जारी कर चुकी है. उसके बावजूद बड़ा डिपॉजिट करवाना और चार्ज की जानकारी डिस्प्ले न करना बदस्तूर जारी है. ऐसे में इस मामले में पीड़ित परिजनों ने इस वीडियो को शोशल मीडिया पर वायरल कर प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है.