देवास में एक परिवार पर टूटा कहर, दो की कोरोना से मौत एक ने लगाई फांसी !

 जेठ पति की कोरोना से मौत पर बहु ने फांसी लगाकर दी जान! देवास में एक परिवार पर टूटा कहर! देवास में कोरोना का कहर एक परिवार पर ऐसे टूटा पूरा परिवार बिखर गया..

देवास में एक परिवार पर टूटा कहर, दो की कोरोना से मौत एक ने लगाई फांसी !
सांकेतिक तस्वीर

देवास: देवास में कोरोना का कहर एक परिवार पर ऐसे टूटा पूरा परिवार बिखर गया.. सास, जेठ और पति की कोरोना से मौत के बाद छोटी बहू ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

किस परिवार में हुई घटना?
शहर में स्थित मैना श्री पार्क कॉलोनी के निवासी रहे अग्रवाल समाज के अध्यक्ष बालकिशन गर्ग के घर परिवार में कोहराम मच गया. महज 1 सप्ताह में ही उनकी पत्नी व दो बेटों की कोरोना से मौत हो गई यही नहीं अपनों के जाने का दर्द उनकी छोटी बहू से बर्दाश्त नहीं हुआ और उसने फांसी लगाकर जान दे दी परिवार में अब गर्ग के अलावा उनके बड़ी बहू और पोते पोतियो रह गए हैं. सबसे पहले गर्ग की पत्नी चंद्रकला उम्र 75 साल कोरोना के चपेट में आई जिससे 14 अप्रैल को उनकी मौत हो गई. इसके बाद 2 दिन के अंतराल में बेटे संजय जिसकी उम्र 51 वर्ष और फिर स्वप्नेश जिसकी उम्र 48 वर्ष थी इन दोनों को भी कोरोना लील गया. छोटी बहु रेखा गर्ग जो मात्र 45 वर्ष की थी वो अपने परिवार में टूटे इस कहर को सहन नहीं कर सकी उसने बुधवार को फांसी लगाकर मौत को गले लगा लिया. महज 1 सप्ताह में पूरा परिवार उजड़ गया .

परिवार के सदस्य ने कहा!
परिवार से जुड़े वरुण अग्रवाल ने बताया कि गर्ग परिवार का किराना का थोक व्यापार है करीब 20 साल पहले रेखा बहु बन कर आई थी लेकिन सप्ताह भर में परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़ सहन नहीं कर सकी इस हंसते खेलते परिवार को कोरोना ने पूरी तरह उजाड़ दिया. बड़े और छोटे बेटे के दो दो बच्चे हैं. परिवार के मुखिया बालकिशन गर्ग की भी तबीयत अत्यधिक खराब है. बड़े बेटे की पत्नी हादसे के चलते सदमे में है. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से देवास में स्थिति बेकाबू होती जा रही है. स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल है. समय पर मरीजों को न रेमडेसिविर इंजेक्शन मिल रहे है और न ही आक्सीजन की व्यवस्था हो रही है.

अस्पताल में अव्यवस्थाएं!
ज़िला अस्पताल में अव्यवस्थाओं के कारण आए दिन विवाद की स्थिति बन रही है. मंगलवार को भी इमरजेंसी में डाक्टर के बुलाने के बाद भी नहीं आने पर मरीज़ की मौत से गुस्साएं स्वजनों ने डाक्टर की पिटाई कर दी थी. इस पर काफी हंगामा हुआ और डाक्टरों ने काम बंद कर दिया. पुलिस को मौके पर मामला संभालना पड़ा.

ये भी पढ़े:MP Corona Live Update: ग्वालियर में चालान से वसूले 22 लाख रुपए; 'SAIMS हॉस्पिटल में नए मरीजों को ना!'

 

WATCH LIVE TV