वैक्सीनेसन सेंटर्स पर हुई एक खास पहल का असर, तय लक्ष्य से ज्यादा हुआ टीकाकरण

दरअसल टीकाकरण अभियान की सफलता की प्रमुख वजह, इसमें जनता की भागीदारी रही. बड़ी संख्या में वालंटियर्स टीकाकरण अभियान से जुड़े और इसे गति दी.

वैक्सीनेसन सेंटर्स पर हुई एक खास पहल का असर, तय लक्ष्य से ज्यादा हुआ टीकाकरण
फाइल फोटो.

चंद्रशेखर सोलंकी/रतलामः सोमवार को मध्य प्रदेश में महा टीकाकरण अभियान चलाया गया. इस दौरान 16 लाख से ज्यादा लोगों का टीकाकरण किया गया. रतलाम जिले में भी लोगों ने बढ़-चढ़कर टीकाकरण अभियान में भाग लिया. बता दें कि जिले में सोमवार को 30 हजार लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया था लेकिन 39 हजार लोगों ने वैक्सीन लगवाई. 

इस पहल के असर से लोगों ने बढ़-चढ़कर लिया टीकाकरण अभियान में भाग
दरअसल टीकाकरण अभियान की सफलता की प्रमुख वजह, इसमें जनता की भागीदारी रही. बड़ी संख्या में वालंटियर्स टीकाकरण अभियान से जुड़े और इसे गति दी. रतलाम में भी वालंटियर्स ने वैक्सीन सेंटर्स पर जा जाकर लोगों को प्रोत्साहित किया. इस दौरान वालंटियर्स विभिन्न सेंटर्स पर जाकर तालियां बजाते, जिससे लोग उत्साहित होते और वह अन्य लोगों को भी टीकाकरण के लिए प्रेरित करते. कई जगह इन वालंटियर्स ने लोगों को वैक्सीन लेने पर सम्मानित भी किया. 

बता दें कि कोरोना संकट जब चरम पर था, उस वक्त भी इन वालंटियर्स ने सड़कों, चौराहों पर पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लोगों को जागरुक किया और उन्हें घरों में रहने की अपील की. अब जब इस महामारी के खिलाफ टीकाकरण चल रहा है, तब भी ये वालंटियर्स आगे बढ़कर समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं. वालंटियर्स की यह पहल कामयाब भी रही और जिला प्रशासन ने एक दिन में जितने लोगों को टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा था, उससे ज्यादा लोगों ने वैक्सीन लगवाई. 

वहीं ग्वालियर में भी युवाओं ने वेक्सीनेशन महाअभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. 18-44 साल आयु वर्ग के लगभग 69 हजार लोगों ने जिले में वैक्सीन लगवाई.