विदिशा की लड़की ने विदेशों में मचाई धूम! जानिए कौन हैं वैशाली शादांगुले, जिनके कपड़ों की दुनिया है दीवानी?

जब 18 साल की उम्र में उनके घरवाले उनकी शादी करने लगे तो वह घर से भाग आईं. दरअसल वैशाली जिंदगी में कुछ करना चाहती थीं और यही वजह है कि वह शादी नहीं करना चाहती थीं.

विदिशा की लड़की ने विदेशों में मचाई धूम! जानिए कौन हैं वैशाली शादांगुले, जिनके कपड़ों की दुनिया है दीवानी?
वैशाली शादांगुले. (इमेज सोर्स- इंस्टाग्राम/वैशाली शादांगुले)

नई दिल्लीः इंसान में अगर प्रतिभा हो तो वह जिंदगी में ऊंचाईयों को छू सकता है, फिर चाहे हालात कैसे भी रहे. ऐसा ही कुछ कारनामा किया है विदिशा की वैशाली शादांगुले ने, जिनके नाम की आज विदेशों में भी धूम है. बता दें कि वैशाली शादांगुले एक फैशन डिजाइनर हैं और हाल ही में उन्होंने पेरिस फैशन वीक में शिरकत की और वहां अपने कलेक्शन को पेश किया. बता दें कि पेरिस फैशन वीक में वैशाली के कलेक्शन को खूब पसंद किया गया और फैशन वीक के दौरान  वैशाली के काम की खूब चर्चा हुई. बता दें कि Paris Haute Couture Week में अपने डिजाइनर कपड़ों को प्रदर्शित करने वाली वैशाली भारत की पहली महिला डिजाइनर हैं. 

घर से भागी और दुनिया पर छा गईं
वैशाली शादांगुले मध्य प्रदेश के विदिशा की रहने वाली हैं. 18 साल तक वह इस शहर में रहीं लेकिन जब 18 साल की उम्र में उनके घरवाले उनकी शादी करने लगे तो वह घर से भाग आईं. दरअसल वैशाली जिंदगी में कुछ करना चाहती थीं और यही वजह है कि वह शादी नहीं करना चाहती थीं. जब उनके घरवाले नहीं माने तो उनके पास घर से भागने के अलावा कोई चारा नहीं था. वैशाली, विदिशा जैसे छोटे शहर से भागकर सपनों की महानगरी मुंबई पहुंच गई. जहां से उनके संघर्ष की शुरुआत हुई.

बॉलीवुड सेलेब के लिए करती हैं कपड़े डिजाइन
मुंबई में जीवन यापन करने के लिए वैशाली ने छोटी-मोटी नौकरी करनी शुरू की. वैशाली की पहली नौकरी में उन्हें महीने के सिर्फ 500 रुपए सैलरी मिली थी. इसके बाद वैशाली ने जिम में फिटनेस ट्रेनर की नौकरी भी की. रेडिफ डॉट कॉम की एक खबर के अनुसार, वैशाली अपने क्लाइंट्स को फैशन टिप्स भी देती रहतीं थी. जिन्हें लोग काफी पसंद करते थे. यहीं से वैशाली को लगा कि उन्हें फैशन डिजाइनिंग के क्षेत्र में हाथ आजमाना चाहिए. इसके बाद वैशाली ने फैशन डिजाइनिंग की बारीकियां सीखीं. इसके बाद धीरे धीरे वैशाली फैशन डिजाइनिंग के फील्ड में जमती चली गईं. वैशाली ने सबसे पहले बैंक लोन लेकर मलाड में दो दर्जियों के साथ एक बुटीक की शुरुआत की. इसके साथ ही वैशाली ने एक फैशन डिजाइनिंग कोर्स में दाखिला भी ले लिया. वैशाली मानती हैं कि फैशन इंस्टीट्यूट से मिली शिक्षा ने ही उनके लिए फैशन वर्ल्ड के रास्ते खोले.

साल 2011 में वैशाली ने पहली बार विल्स इंडिया लाइफस्टाइल फैशन वीक में हिस्सा लिया और वहां सभी लोगों को अपने कलेक्शन से अपना मुरीद बना लिया. आज उनका मुंबई में तीन मंजिला फैशन शोरूम है और उनके ग्राहकों में बॉलीवुड के कई सितारों के नाम शामिल हैं. आज वैशाली की Vaishali S के नाम से अपना फैशन ब्रांड है. 43 वर्षीय वैशाली आज एक कामयाब फैशन डिजाइनर हैं और ना सिर्फ पेरिस फैशन वीक बल्कि मिलान फैशन वीक और न्यूयॉर्क फैशन वीक में भी वह अपना कलेक्शन पेश कर चुकी हैं.

पारंपरिक कला को सहेजना चाहती हैं
वैशाली के कलेक्शन में भारत के पारंपरिक परिधानों का बखूबी इस्तेमाल किया जाता है. वह चाहती हैं कि भारत की हैंडलूम इंडस्ट्री को संरक्षित किया जाए, ताकि पूरी दुनिया भारत की इस कला से रूबरू हो सके. बता दें कि सैंकड़ों बुनकर भारतीय महिलाएं आज वैशाली के साथ काम करती हैं.