close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: डॉक्टर की लापरवाही से बच्ची के हाथ में हुआ गैंगरीन, काटना पड़ा हाथ

परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर ईश्वर ठाकुर द्वारा गलत ढंग से प्लास्टर बांधा गया, जिसके कारण बच्ची दिव्यांग हो गई.

VIDEO: डॉक्टर की लापरवाही से बच्ची के हाथ में हुआ गैंगरीन, काटना पड़ा हाथ
पीड़िता के पिता ने डॉक्टर पर कार्रवाई किये जाने को लेकर कलेक्टर की जनसुनवाई में गुहार लगाई है.

जबलपुर: मध्य प्रदेश के डिंडोरी के सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों की लापरवाही थमने का नाम नही ले रही है. ताजा मामला शहपुरा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का है, जहां पर सरकारी डॉक्टर की लापरवाही से रैपुरा गांव की मासूम बच्ची को अपना हाथ गंवाना पड़ गया. अब असहाय पिता दिव्यांग हो चुकी मासूम बेटी आराधना को साथ लेकर दोषी डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई कराने के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है. 

 

 

दरअसल, 9वीं कक्षा की छात्रा आराधना कुछ समय पूर्व स्कूल में खेलते वक्त फिसल कर गिर गई थी. उसके हाथ मे गंभीर चोट आ गई थी. परिजन उसे उपचार के लिए शहपुरा के सरकारी अस्पताल में लेकर आये थे. जहां डॉक्टर ईश्वर सिंह ठाकुर ने बच्ची के हाथ मे प्लास्टर बांध दिया था. लेकिन, प्लास्टर बांधने के दो दिन बाद ही बच्ची के हाथ में गैंगरीन हो गया. इसके बाद पिता रवि झारिया बच्ची को जबलपुर मेडिकल कॉलेज ले गए. जहां बच्ची की जान बचाने के लिए डॉक्टरों को हाथ काटना पड़ा. 

परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर ईश्वर ठाकुर द्वारा गलत ढंग से प्लास्टर बांधा गया, जिसके कारण बच्ची दिव्यांग हो गई. वहीं, पीड़िता के पिता ने डॉक्टर पर कार्रवाई किये जाने को लेकर कलेक्टर की जनसुनवाई में गुहार लगाई है. फिलहाल स्वास्थ्य विभाग के सीएमएचओ बच्ची का बेहतर इलाज कराने के साथ दोषी डॉक्टर के खिलाफ जांच कर कार्यवाही की बात कह रहे हैं. जबकि इसके पूर्व में भी डॉक्टर ईश्वर सिंह ठाकुर के खिलाफ मरीजों के इलाज में लापरवाही के आरोप लग चुके थे. उनके खिलाफ  आज तक कोई कार्यवाही नही हुई है.