विदिशाः RKM कॉलेज में बीए की परीक्षा में खुलेआम नकल, शिक्षकों ने भी दिया साथ

वहीं परीक्षा के दौरान अचानक पहुंची टीम को देखकर छात्रों और शिक्षकों दोनों के होश उड़ गए और किताबें यहां-वहां छिपाकर रखने की कोशिश करने लगे.

विदिशाः RKM कॉलेज में बीए की परीक्षा में खुलेआम नकल, शिक्षकों ने भी दिया साथ
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्लीः विदिशा के आरकेएम कॉलेज में इन दिनों बीए की परीक्षा चल रही है, लेकिन परीक्षा के दौरान की सामने आई तस्वीरें चौंकाने वाली हैं. क्योंकि कॉलेज में परीक्षा के दौरान नकल का कारोबार जमकर चल रहा है. कॉलेज में छात्र खुलेआम किताबें रखकर नकल कर रहे थे. यही नहीं छात्रों को नकल कराने में वहां मौजूद शिक्षक भी उनके साथ थे. वहीं परीक्षा के दौरान अचानक पहुंची टीम को देखकर छात्रों और शिक्षकों दोनों के होश उड़ गए और किताबें यहां-वहां छिपाकर रखने की कोशिश करने लगे. बता दें केंद्र में महर्षि महेश योगी विश्वविद्यालय की दूरस्थ क्षेत्र की बीए की परीक्षा चल रही थी. केंद्र में 23 जुलाई से परीक्षा चल रही है. जहां खुलेआम नकल का कारोबार जारी है.

VIDEO: आगरा में तमंचे के बल पर परीक्षा में नकल, स्टूडेंट्स ने किताबें खोलकर जी भर की चीटिंग

 केंद्र में बीए के फाइनल ईयर के छात्रों की संस्कृत की परीक्षा चलल रही थी
खुलेआम नकल की सूचना मिलने पर पीछे के दरवाजे से पहुंचे ज़ी मीडिया की टीम को देख पूरे केंद्र में सन्नाटा छा गया. बता दें केंद्र में बीए के फाइनल ईयर के छात्रों की संस्कृत की परीक्षा चल रही थी. जहां सभी छात्र अपने सामने किताब और पर्चियां रखकर परीक्षा कॉपी में संस्कृत की किताब टीपने का काम कर रहे थे. परीक्षा के दौरान कॉलेज परिसर में काफी सन्नाटा था, ताकि किसी को पता न चल सके कि परिसर में परीक्षा चल रही है. पूरे कॉलेज में कोई नजर नहीं आ रहा था. परीक्षा अंत के दो कमरो में संचालित हो रही थी.

कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में नकल कराने वाले गिरोह का पर्दाफाश, परीक्षा केन्द्र संचालक समेत 6 गिरफ्तार

एक पर्ची खुद परीक्षा कराने वाले ने अपनी जेब में ठूंस ली
जैसे ही परीक्षा कराने वालों की टीम पर नजर पड़ी तो सभी हड़बड़ा गए और किताबें और पर्चियां छिपाने में जुट गए. नकल की एक पर्ची तो खुद परीक्षा कराने वाले ने अपनी जेब में ठूंस ली. जब परीक्षा दे रहे युवक युवतियों को चेक किया तो उनके पास से नकल की पर्ची की बजाय पूरी किताबें पाई गईं. बता दें इन छात्रों को नकल करने देने और परीक्षा में मदद करने के नाम से पैसे भी वसूल किये जाते हैं.