close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गोवंश की तस्करी के शक में 25 लोग पकड़ाए, ग्रामीणों ने लगवाए 'गौमाता की जय' के नारे

मौके पर पहुंची पुलिस ने इनके कब्जे से 22 गोवंश भी जप्त किया है. पकड़े गए आरोपियों में कुछ सीहोर और कुछ हरदा जिले के हैं. वहीं कुछ स्थानीय लोग भी इनके साथ आरोपी बनाए गए है.

गोवंश की तस्करी के शक में 25 लोग पकड़ाए, ग्रामीणों ने लगवाए 'गौमाता की जय' के नारे
छोटे वाहनों में लगभग दो दर्जन के आसपास गोवंश को ठूस-ठूस कर भरे गए थे. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश के खंडवा में गोवंश की तस्करी करते हुए ग्रामीणों ने 25 आरोपियों को पकड़ा है. ग्रामीणों का आरोप है कि यह सभी लोग रात के अंधेरे में 8 पिकअप वाहनों में गोवंश भरकर महाराष्ट्र की ओर ले जा रहे थे, इसी दौरान ग्रामीणों की नजर इन पर पड़ी और सबने मिलकर इन्हें धर-दबोचा. वहीं आरोपियों को पकड़ने के बाद ग्रामीणों ने पुलिस को इसकी सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने इनके कब्जे से 22 गोवंश भी जप्त किया है. पकड़े गए आरोपियों में कुछ सीहोर और कुछ हरदा जिले के हैं. वहीं कुछ स्थानीय लोग भी इनके साथ आरोपी बनाए गए है.

ग्रामीणों का कहना है कि गांव के आस-पास के इलाकों में काफी समय से यह काम चल रहा था. ग्रामीणों को कई बार इन लोगों की गतिविधियां देखकर इन पर शक हुआ, जिसके बाद ग्रामीणों ने खालवा तहसील के सांवली खेड़ा और कोठा गांव के बीच रात में इन लोगों को पकड़ लिया. ग्रामीणों ने देखा कि इन छोटे वाहनों में लगभग दो दर्जन के आसपास गोवंश को ठूस-ठूस कर भरा हुआ था. ग्रामीणों ने सभी आरोपियों को रस्सी से बांधा और फिर उन्हें खालवा थाने ले गए. रास्ते में इन लोगों ने गौ माता की जय के नारे भी लगाए.

मध्य प्रदेशः गौवंश की अवैध तस्करी के मामले में 2 पर लगा रासुका

बता दें मध्य प्रदेश के खंडवा जिले के खालवा तहसील का एक हिस्सा महाराष्ट्र सीमा से लगा हुआ है. ऐसे में गोवंश तस्कर इसका फायदा उठाते हैं और खालवा देड़तलाई जंगल के रास्ते से चोरी छुपे इस गोवंश को महाराष्ट्र भेजते हैं. पुलिस ने इन सभी लोगों के खिलाफ गोवंश तस्करी और पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है. मामले पर पुलिस का कहना है कि सभी आरोपियों पर मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच शुरू कर दी गई है.