close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मध्यप्रदेशः मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, 7 मई तक सावधान रहने की चेतावनी

मौसम विभाग ने शुक्रवार को अलर्ट जारी करते हुए सभी को 7 मई तक सावधान रहने की हिदायत दी है. मौसम विभाग ने तूफान नहीं बल्की धूल भरी आंधी और बारिश का अलर्ट जारी किया है.

मध्यप्रदेशः मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट, 7 मई तक सावधान रहने की चेतावनी
2 मई को आए तूफान में गई 124 लोगों की जान (फाइल फोटो)

नई दिल्ली ः मौसम विभाग ने शुक्रवार को अलर्ट जारी करते हुए सभी को 7 मई तक सावधान रहने की हिदायत दी है. मौसम विभाग ने तूफान नहीं बल्की धूल भरी आंधी और बारिश का अलर्ट जारी किया है. विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए लोगों को 7 मई तक सावधान रहने को कहा है. बता दें कि मौसम विभाग ने उत्तर, दक्षिण और पूर्व के क्षेत्र के लोगों खासतौर पर सावधान रहने की हिदायत दी है. बुधवार को आए तूफान से पहले ही 124 लोगों की मौत हो चुकी है. ऐसे में इस बड़े तूफान की आशंका से खतरे का आसार और बढ़ जाता है. बता दें कि मौसम के अचानक बदले मिजाज ने देश के 12 राज्यों को काफी प्रभावित किया है. इन राज्यों में यूपी, मध्यप्रदेश, राजस्थान, हिमाचल, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड और दिल्ली शामिल हैं. इन सभी राज्यों में केवल रास्थान में ही 40 लोगों की जान चली गई.

केवल राजस्थान में गईं 40 जानें
बता दें कि बुधवार को आए बवंडर और तूफान ने केवल राजस्थान में ही 40 लोगों की जान ले ली थी. अब इसे विभाग की लापरवाही कहें या कुछ और लेकिन अगर मौसम विभाग ने तूफान आने से पहले इसकी जानकारी देकर अलर्ट जारी किया होता तो शायद ये जानें बच सकती थीं. लेकिन मौसम विभाग की लापरवाही के चलते 124 लोगों को अपनी जान से हांथ धोना पड़ा.

10 घंटे पहले से था तूफान का पूर्वानुमान
दरअसल, मौसम विभाग को इस आने वाले तूफान की जानकारी 10 घंटे पहले से थी, लेकिन विभाग ने केवल अपनी वेबसाइट पर इसकी औपचारिक जानकारी डालकर अपना पल्ला झाड़ लिया. जबकि नियमों के अनुसार मौसम विभाग को इसकी जानकारी सभी विभागों सहित सरकार को भी देना चाहिए था. लेकिन विभाग ने इसकी जानकारी सरकार तक पहुंचाना जरूरी नहीं समझा. जिससे लोगों तक इसकी जानकारी नहीं पहुंची और नतीजन कई लोगों को अपनी जान गंवाना पड़ा.

डरने का अलर्ट नहीं
मौसम विभाग का कहना है कि यह अलर्ट डरने का नहीं बल्कि सावधान रहने का है. 2 मई को हुई जनहानि को देखते हुए मौसम विभाग ने इस अलर्ट को गंभीरता से लिया है और जिन भी क्षेत्रों में बवंडर, आंधी, तूफान और बारिश के आसार हैं उन सभी क्षेत्रों को चेतावनी जारी की है.