सांसद नहीं रहा तो क्या हुआ, अब से जनसेवक के रूप में काम करूंगाः ज्योतिरादित्य सिंधिया

सांसद नहीं रहा तो क्या हुआ, अब से जनसेवक के रूप में काम करूंगाः ज्योतिरादित्य सिंधिया

संवाददाताओं के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, "जनादेश को स्वीकार करता हूं. मैं आज सांसद नहीं हूं, लेकिन जनसेवक के रूप में कार्य करता रहूंगा. चुनाव के दौरान जो कमियां रही हैं, उन्हें दूर करने के प्रयास होंगे. संगठन की मजबूती पर भी ध्यान दिया जाएगा." 

सांसद नहीं रहा तो क्या हुआ, अब से जनसेवक के रूप में काम करूंगाः ज्योतिरादित्य सिंधिया

शिवपुरीः लोकसभा चुनाव हारने के बाद गुना-शिवपुरी संसदीय क्षेत्र पहुंचे कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने यहां सोमवार को कहा कि वह अब सांसद नहीं हैं, मगर जनसेवक के रूप में कार्य करते रहेंगे." चुनाव नतीजों के बाद पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचे सिंधिया ने कार्यकर्ताओं की बैठक ली. संवाददाताओं के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, "जनादेश को स्वीकार करता हूं. मैं आज सांसद नहीं हूं, लेकिन जनसेवक के रूप में कार्य करता रहूंगा. चुनाव के दौरान जो कमियां रही हैं, उन्हें दूर करने के प्रयास होंगे. संगठन की मजबूती पर भी ध्यान दिया जाएगा." 

सिंधिया ने आगे कहा, "कोई भी पूरी तरह परफेक्ट नहीं होता है. हम समीक्षा कर रहे हैं, हमारी जो कमियां रही हैं, उन्हें दूर करने के प्रयास होंगे." सिंधिया ने काली माता रोड स्थित अपने जनसंपर्क कार्यालय में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की. बैठक लगभग तीन घंटे चली. इस दौरान सिंधिया ने कांग्रेस के जिलाध्यक्ष, कार्यकारी अध्यक्ष, ब्लॉक अध्यक्ष, मंडलम अध्यक्ष व अन्य पदाधिकारियों से अलग-अलग बात की.

देखें लाइव टीवी

मध्य प्रदेश कांग्रेस में अब अध्यक्ष पद को लेकर शुरू हुई तकरार, सिंधिया के समर्थकों ने किया हंगामा

हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में सिंधिया को भाजपा उम्मीदवार के.पी. यादव के हाथों लगभग सवा लाख वोटों के अंतर से हार का सामना करना पड़ा था. गुना संसदीय क्षेत्र सिंधिया राजघराने का गढ़ माना जाता रहा है. राजघराने के किसी सदस्य की यहां पहली बार हार हुई है. 

(इनपुटः आईएएनएस)

Trending news