पांच हजार की उधारी नहीं दी तो, मंदिर के सामने मजदूर को जिंदा जलाया, मुख्यमंत्री पीड़ित परिवार से मिलने जाएंगे

26 साल का विजय सहरिया पुत्र कल्लू सहरिया छोटी उकावद खुर्द गांव में मां गीताबाई, छोटे भाई ओमप्रकाश, पत्नी रामसुखी और दो बच्चों के साथ रहता था. वह मजदूरी कर परिवार का पेट पालता था. 

पांच हजार की उधारी नहीं दी तो, मंदिर के सामने मजदूर को जिंदा जलाया, मुख्यमंत्री पीड़ित परिवार से मिलने जाएंगे
सांकेतिक तस्वीर

गुना: मध्यप्रदेश के पंचायत मंत्री महेंद्र सिंह सिसौदिया के विधानसभा क्षेत्र में आदिवासी को मात्र पांच हजार रुपए के लिए जिंदा जला दिया गया. जिले के बमौरी क्षेत्र के उकावद खुर्द गांव के रहने वाले आदिवासी विजय सहरिया ने गांव के ही राधेश्याम से तीन साल पहले पांच हजार रुपए उधार लिए थे. इसके बदले तब से लगातार खेत में उसकी मर्जी के बिना उससे काम कराया जा रहा था. शुक्रवार रात पैसों को लेकर हुए विवाद के बाद बीच गांव में मंदिर के सामने केरोसिन डालकर उसे जिंदा जला दिया. जली हुई हालत में उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां देर रात दम तोड़ दिया.

गृहमंत्री का दावाः सबसे ज्यादा रोजगार हमने दिया, हकीकतः CG में 22 लाख हैं बेरोजगार

दोषियों को सख्त सजा देंगे
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा हैं कि गुना जिले के बमोरी ब्लॉक के उकावद ग्राम में अग्निकांड विजय सहरिया की मृत्यु अत्यंत वीभत्स एवं दर्दनाक है. मैं उन्हें हृदय से श्रद्धांजलि तथा उनके परिवार को सांत्वना देता हूँ. मैं पीड़ित परिवार से मिलने स्वयं उनके गांव जाऊँगा. मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि घटना की पूरी जांच कराई जाएगी तथा दोषियों को सख्त से सख्त सजा मिलेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि हम हमारे गरीब, दलित, कमजोर भाई-बहनों के प्रति कोई अन्याय नहीं होने देंगे. प्रदेश में अनुसूचित जनजाति वर्ग को साहूकारों के चंगुल से मुक्त कराने के लिए कानूनी प्रावधान किया गया है, जिसके तहत उनके सारे पुराने अवैध कर्जे माफ हो गए है. कोई उनसे इन कर्जों की वसूली नहीं कर सकेगा.

 

बीच गांव में केरोसिन डालकर जलाया
26 साल का विजय सहरिया पुत्र कल्लू सहरिया छोटी उकावद खुर्द गांव में मां गीताबाई, छोटे भाई ओमप्रकाश, पत्नी रामसुखी और दो बच्चों के साथ रहता था. वह मजदूरी कर परिवार का पेट पालता था. गांव में ही रहने वाला राधेश्याम पुत्र चुन्नीलाल लोधा बड़ा किसान और रसूखदार है. पुलिस के मुताबिक शुक्रवार रात करीब 9 बजे उसने घर से विजय को कृष्ण मंदिर के पास बुलवाया. यहां उससे पैसे मांगे. इसी बात पर दोनों में विवाद हो गया. गुस्साए राधेश्याम ने केरोसिन से भरी केन विजय पर उड़ेल दी. इसके बाद माचिस की तीली जलाकर आग लगा दी.

इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ा
ग्रामीणों के मुताबिक घटना के वक्त सब लोग सोए हुए थे. सूचना पर घरवाले पहुंचे, तो किसी तरह आग बुझाई. तब तक वह बुरी तरह जल चुका था. उसे तुरंत बमौरी के उपस्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां से गुना जिला अस्पताल रैफर कर दिया. जिला अस्पताल में देर रात करीब 1 बजे उसकी मौत हो गई. मौके पर पहुंची पुलिस को दिए बयान में विजय ने राधेश्याम का नाम लिया है. 

कर्ज के बदले तीन साल से करा रहा था मजदूरी
ग्रामीणों के मुताबिक विजय ने तीन साल पहले राधेश्याम से पांच हजार रुपए उधार लिए थे. इसके बदले में तीन साल से लगातार उसके खेत में मजदूरी कर रहा था. खास बात है कि मजदूरी के बदले उसे पैसा भी नहीं दिया जा रहा था. ग्रामीणों का कहना है जब भी विजय पैसे मांगता, तो उसे मार-पीटकर भगा दिया जाता था. इसके बाद भी राधेश्याम उससे पैसे मांग रहा था. घटना के बाद गांव में मातम पसर गया.

प्रशासन ने 20 हजार रुपये की सहायता दी
एसपी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि मामले में अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार अधिनियम के तहत हत्या का मामला दर्ज कर लिया है. आरोपी राधेश्याम को गिरफ्तार कर लिया गया है. फिलहाल प्रशासन की ओर से तात्कालिक सहायता के तौर पर 20 हजार रुपये दिए गए हैं. इसके अलावा पीड़ित परिवार को साढ़े आठ लाख रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी. मृतक के बच्चों की शिक्षा का इंतजाम भी किया जाएगा.

कंप्यूटर बाबाः साथ रखते हैं लैपटॉप; हेलिकॉप्टर में घूमने के शौकीन, एक भविष्यवाणी ने दिलाई शोहरत

पंचायत मंत्री का क्षेत्र है बमौरी
बता दें कि बमौरी क्षेत्र पंचायत मंत्री महेंद्र सिंह सिसौदिया का विधानसभा क्षेत्र है. इस बार हुए उपचुनाव में भी वे उम्मीदवार हैं. खास है कि बमौरी क्षेत्र में सहरिया जाति के कई आदिवासी रहते हैं, जो मजदूरी कर अपना भरण-पोषण करते हैं। अगर कोई मजदूर यहां उधार लेता है, तो उसे बदले में उसके यहां काम करना पड़ता है.

बंधुआ मजदूर संयोजक ने किया विरोध
बंधुआ मुक्ति मोर्चा के संयोजक नरेंद्र भदौरिया ने इसकी शिकायत कर मजिस्ट्रियल जांच की मांग की है. उनका कहना है कि मामले में पुलिस ने सिर्फ एक ही आरोपी बनाया है. अन्य आरोपियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जानी चाहिए. उन्होंने क्षेत्र से बंधुआ मजदूरी को खत्म करने की मांग भी की है.

WATCH LIVE TV