कलेक्टर के पास पहुंचे मजबूर मज़दूर

सीहोर में जनसुनवाई के दौरान की मजदूर पहुंचे और उन्होंने कलेक्टर से अपनी मज़दूरी दिलवाने की गुहार लगाई है, पढ़िए पूरी ख़बर।

कलेक्टर के पास पहुंचे मजबूर मज़दूर

सीहोर: मध्य प्रदेश के सीहोर की इछावर तहसील के रामगढ़ गांव के करीब 40 मज़दूरों ने जनसुनवाई में पहुंचकर कलेक्टर से मज़दूरी दिलाने की गुहार लगाई है।

मज़दूरों का कहना है की जमोनिया गांव का रामस्वरूप वर्मा इन सभी को 300 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से मज़दूरी कराने महाराष्ट्र ले गया था।

मज़दूरों का आरोप है कि वहां के ठेकेदार ने इनसे काम करा लिया और जब मज़दूरी देने का वक्त आया तो टालमटोल करने लगा।

इसके बाद वो मज़दूरों को धमकी भी देने लगा और उसने कहा कि वो रामस्वरूप को पैसे दे देगा और मज़दूर उसी से पैसे ले लें।

जिसके बाद किसी तरह 60 मज़दूरों में से 40 मज़दूर वहां से बचकर घर चले आए, लेकिन अभी भी ठेकेदार के पास 20 लोग फंसे हुए हैं।

जब गांव के पास के ठेकेदार रामस्वरूप की मजदूरों ने तलाश की तो वो नहीं मिला जिसके बाद थक हारकर मज़दूरों ने कलेक्टर से न्याय की गुहार लगाई है।

वहीं मामले में श्रम विभाग के अधिकारियों ने जांच कर कार्रवाई का भरोसा दिया है।