close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे यात्रियों से सीएम की अपील, 'चिंता मत कीजिए'

मुंबई में भारी बारिश के बाद महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे यात्रियों से राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस ने कहा चिंता मत कीजिए. मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील करते हुए कहा आप लोग चिंता मत कीजिए.

महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे यात्रियों से सीएम की अपील, 'चिंता मत कीजिए'

मुंबई/ नई दिल्ली : मुंबई में भारी बारिश के बाद ट्रैक पर फंसी महालक्ष्मी एक्सप्रेस के सभी यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है. ट्रेन से निकाले गए यात्रियों को लेकर स्पेशल रिलीफ ट्रेन कल्याण से कोल्हापुर जाएगी. ट्रेन में 19 डिब्बे लगाए गए हैं. यात्रियों के खाने, पानी और दवाइयों का इंतजाम भी किया गया है. इससे पहले महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे यात्रियों से राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस ने कहा था चिंता मत कीजिए. मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील करते हुए कहा था आप लोग चिंता मत कीजिए. मौके पर एनडीआरएफ, सेना, स्थानीय प्रशासन, पुलिस और रेलवे मंत्रालय के एक्सपर्ट राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हुए हैं. उन्होंने लोगों को भरोसा दिलाया कि राहत कार्य जल्द पूरा कर लिया जाएगा.

500 से ज्यादा लोगों को बाहर निकाला गया
कुछ मीडिया रिपोर्टस में बताया गया कि कोल्हापुर से मुंबई जा रही महालक्ष्मी एक्सप्रेस में करीब 2000 यात्री भारी बारिश के बाद ट्रैक पर ही फंस गए थे. मौके पर पहुंची सेना और एनडीआरएफ की टीम ने लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाना शुरू कर दिया है. एनडीआरएफ की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि अब तक 500 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है. जिन्हें ट्रेन से बाहर निकाला गया है, उनमें 9 गर्भवती महिलाएं भी हैं.

मुंबई बारिश, Mumbai rain, Devendra Fadnavis, Mahalaxmi Express, rainfall, ndrf

37 डॉक्टरों की टीम को तैनात किया गया
इमरजेंसी में एंबुलेंस और 37 डॉक्टरों की टीम को तैनात किया गया है. चिकित्सकों की टीम में गायनोकोलॉजिस्ट भी हैं. यात्रियों के लिए सभी जरूरी इंतजाम जैसे खाना आदि का पूरा इंतजाम किया गया है. आगे किसी भी मूवमेंट के लिए 14 बस और 3 टेंपो मौके पर तैनात हैं. वागनी में फंसी मुंबई-कोल्हापुर महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे 2000 यात्रियों में से 851 कोल्हापुर जाने वाले यात्री हैं. सेंट्रल रेलवे के सीपीआरओ ने मीडिया को दिए बयान में कहा कि ट्रेन में करीब 700 यात्री फंसे हुए हैं.

एनडीआरएफ टीम ने सबसे पहले महिलाओं और बच्चों को रेस्क्यू किया, इसके बाद उम्रदराज लोगों को ट्रेन से बाहर निकाला जा रहा है. सबसे अंत में पुरुषों को निकाला जाएगा. इससे पहले महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे यात्रियों को निकालने के लिए राज्य सरकार ने एयरफोर्स की मदद ली थी, इसमें मौके पर चॉपर से रेकी की गई. लेकिन चॉपर से यात्रियों को ट्रेन से बाहर निकालना का प्रयास कामयाब नहीं हो सका.

मुंबई में हो रही भारी बारिश के कारण कुल 28 उड़ान प्रभावित हुई हैं. इनमें से 11 फ्लाइट को कैंसल कर दिया गया है. 8 उड़ानें आखिरी समय में लैंडिंग कैंसल कर कुछ समय बाद दोबारा लैंड हुई. वहीं 9 का रूट डायवर्ट किया गया है. विभाग की तरफ से शनिवार को भी भारी बारिश की चेतावनी है. लोगों को घरों में रहने और समुद्र किनारे नहीं जाने की सलाह दी गई है.