कोरोना: महाराष्ट्र में रेमडेसिविर की भारी मांग, सरकार ने लिया ये फैसला

इसके साथ ही दवाई की हो रही कालाबाजारी की घटनाओं पर पुलिस विभाग और खाद्य एवं औषधि प्रशासन संयुक्त रूप से कड़ी कार्रवाई करेंगे.

कोरोना: महाराष्ट्र में रेमडेसिविर की भारी मांग, सरकार ने लिया ये फैसला

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) के गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार जल्द ही बडे़ पैमाने पर एंटी वायरल दवाओं रेमडेसिविर और टॉसिलिज्यूमैब दवाओं को खरीदकर जरूरतमंद लोगों को उपलब्ध कराएगी. इसके साथ ही देशमुख ने कोविड-19 के रोगियों के इलाज में इस्तेमाल की जा रहीं दवाओं की काला बाजारी करने वालों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है.

देशमुख ने बैठक के बाद कहा कि महाराष्ट्र और इससे बाहर इन दवाओं की भारी मांग है. जिसके चलते राज्य सरकार बड़े पैमाने पर रेमडिसिविर और टॉसिलिज्यूमैब खरीदने जा रही है. उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि राज्य सरकार ने इन्हें खरीदने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ये दवाएं पूरे राज्य में जरूरतमंद लोगों के लिये उपलब्ध रहें. इसके अलावा दवाई की हो रही कालाबाजारी की घटनाओं पर पुलिस विभाग और खाद्य एवं औषधि प्रशासन संयुक्त रूप से कड़ी कार्रवाई करेंगे.

ये भी पढ़ें:- पुणे और ठाणे में 10 दिनों के लिए Lockdown, नांदेड में कर्फ्यू, जानें क्या खुलेगा, क्या रहेगा बंद

बताते चलें कि मुंबई (Mumbai) में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,354 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 90 हजार से अधिक हो गई है. बीएमसी के अनुसार शहर में अब कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 90,149 हो गई है. इसके अलावा 73 और रोगियों की मौत के बाद मृतकों की संख्या 5,202 तक पहुंच गई है. बीएमसी ने शुक्रवार को अपने बयान में ये भी बताया कि 73 रोगियों की मौत के जो मामले सामने आए, उनमें से 54 रोगियों को अन्य गंभीर बीमारियां भी थीं.

हालांकि राहत की खबर ये रही की शुक्रवार को 2,183 रोगियों को छुट्टी मिल गई, जिसके साथ ही ठीक हो चुके मरीजों की संख्या 61,934 हो गई है. शहर में रोगियों की ठीक होने की दर 68 प्रतिशत है. मुंबई में अब भी 22,738 लोग कोविड-19 से पीड़ित हैं. इसके अलावा 905 नए संदिग्ध रोगियों को शहर के अस्पतालों में भर्ती किया गया है.
 
LIVE TV