कोरोना वायरस: मुंबई के इन टॉप 5 वार्डों से मिले संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित लोगों की संख्या 1297 हो गई है. वहीं 72 लोगों की इस वायरस की चपेट में आकर मौत हो गई है.  मुंबई के टॉप 5 वार्ड कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं.

कोरोना वायरस: मुंबई के इन टॉप 5 वार्डों से मिले संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले

मुंबई: महाराष्ट्र में कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित लोगों की संख्या 1297 हो गई है. वहीं 72 लोगों की इस वायरस की चपेट में आकर मौत हो गई है. 

मुंबई के टॉप 5 वार्ड कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. मुंबई के जी साउथ वार्ड में कोरोना के सबसे ज्यादा 184 मामले हैं. 

​इसके बाद दूसरे नंबर पर ई वार्ड का नंबर आता है, जहां 64 मामले हैं. वहीं तीसरे नंबर पर डी वार्ड में 53 मामले और चौथे नंबर पर के वॉर्ड में 46 मामले सामने आए हैं. पांचवें नंबर एच ईस्ट वार्ड है, जहां 37 कोरोना के 37 केस सामने आए हैं.

बता दें आज गुरुवार 9 अप्रैल को महाराष्ट्र में कोराना वायरस के 162 नए मामले सामने आए हैं. इनमें 143 मुंंबई से हैं. एक दिन में नए मरीजों के सामने आने का ये अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है.   

ये भी पढ़ें- Lockdown के 16वें दिन दिल्ली समेत इन शहरों का क्या है हाल, देखिए PHOTOS

महामारी के चलते मुंबई में कोरोना के मरीजों की तेजी से बढ़ती संख्या देखते हुए जल्द रैपिड टेस्टिंग की व्यवस्था की जाएगी. इसके लिए बृहन्मुंबई महानगरपालिका (BMC) दक्षिण कोरिया से 1 लाख टेस्टिंग किट्स जल्द खरीदेगी.

बता दें कि कोरोना के मरीजों का पता लगाने के लिए केंद्र सरकार ने रैपिड टेस्टिंग करने की अनुमति दे दी है. दक्षिण कोरिया से किट्स आते ही मुंबई में मरीजों की रैपिड टेस्टिंग होनी शुरू हो जाएगी.

इस रैपिड टेस्टिंग से ये पता चलेगा कि किसी व्यक्ति को इन्फेक्शन हुआ है या नहीं. अगर उस व्यक्ति को इन्फेक्शन हुआ है तभी फिर आगे कोरोना की जांच होगी. इससे कोरोना संदिग्ध और पॉजिटिव पेशंट में पहचान करना आसान हो जाएगा. जिनमें रैपिड टेंस्टिंग के बाद इन्फेक्शन पाया जाएगा सिर्फ उन्हीं की जांच करके कोरोना के मरीजों का जल्दी से पता लगाया जा सकेगा.