पति की तीसरी शादी से नाराज थी दूसरी पत्नी, सौतेली बेटियों के साथ मिलकर रचा मर्डर प्लान

इस हत्या में पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज की है, जिसमें से चार लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि 3 लोग अभी भी फरार बताए जा रहे है. 

पति की तीसरी शादी से नाराज थी दूसरी पत्नी, सौतेली बेटियों के साथ मिलकर रचा मर्डर प्लान
प्रतीकात्मक तस्वीर

मुंबई: मुंबई के नालासोपारा से पुलिस ने एक महिला को अपने पति की तीसरी पत्नी की हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया है. जानकारी के मुताबिक, इस हत्या में पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज की है, जिसमें से चार लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, जबकि 3 लोग अभी भी फरार बताए जा रहे है. 

दरअसल, पुलिस को पालघर जिले के यशवंत एंपायर बिल्डिंग के पास पुलिस को कम्बल में एक महिला का शव बरामद हुआ, जिसके बाद इलाके में हड़कंप मच गया. पुलिस ने जांच शुरू की, तो पता चला की मृतका का नाम योगिता देवरे है. हत्या के 24 घंटे के अंदर पालघर क्राइम ब्रांच की वसई यूनिट ने मामले की गुत्थी को सुलझा लिया. पुलिस ने बताया एक महिला अपने पति की तीसरी शादी से नाराज थी. महिला मे अपनी दो सौतेली बेटियों और उनके ब्वॉयफ्रेंड्स के साथ मिलकर उसे मौत के घाट उतार दिया. 

मामले की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि नालासोपारा स्थित साईं सिद्धान्त पैलेस निवासी सुशील मिश्रा ने तीन शादी की हैं. पहली पत्नी गांव में है. जबकि दूसरी पत्नी नालासोपारा पूर्व के डॉनलेन में पहली पत्नी की दो बेटियों के साथ रहती थी. पति सुशील मिश्रा तीसरी पत्नी योगिता देवरे के साथ पिछले एक साल से सुशील मिश्रा का दूसरी पत्नी से विवाद चल रहा था. इसी बात को लेकर सुशील ने योगिता से कुछ महीनों पहले ही शादी की और उसके साथ रहने लगा था. ये बात दूसरी पत्नी को रास नहीं आई. तभी दूसरी पत्नी ने दोनों बेटियों के साथ मिलकर योगिता की हत्या की साजिश रची डाली. 

दोनों बेटियों ने योगिता को अपने घर पर खाने पर बुलाया और खाने में नींद की गोलियां मिला दीं, जिसके कारण योगिता गहरी नींद में सो गई. बेटियों ने अपने प्रेमियों के साथ मिलकर 28 फरवरी की रात 12 बजे के आस-पास योगिता की गला घोंट कर हत्या कर दी. वारदात के बाद शव को कम्बल में लपेट कर रिक्शे से यशवंत एम्पायर बिल्डिंग के पास फेंककर फरार हो गए. अधिकारी ने बताया कि सहायक पुलिस निरीक्षक राकेश साखरकर, पुलिस उप निरीक्षक हितेंद्र विचारे की टीम ने घटनास्थल से सीसीटीवी फुटेज के आधार पर वारदात में इस्तेमाल ऑटो का पता लगाया. 

पुलिस ने शक के आधार पर रिक्शे वाले को अपने कब्जे में लिया और पूछताछ शुरू की और हत्या की गुत्थी को सुलझाया. मामले में आरोपी महिला और उसकी दो बेटियों व रिक्शा चालक को गिरफ्तार किया गया है। जबकि तीन अन्य फरार हैं.