नांदेड़ के जंगल में पिता, पुत्र और बेटी की मिली लाश, सामने आई ये वजह

आस पड़ोस वाले लोगों के साथ बात करने पर पता चला की बिवी के भाग जाने के बाद संजय काफी शर्मिंदगी महसूस करता था.

नांदेड़ के जंगल में पिता, पुत्र और बेटी की मिली लाश, सामने आई ये वजह
रामलू नाईक ने पहले अपने दोनो बच्चों को फांसी पर लटकाया और फिर खुद जहर खा कर जान दे दी.()

सतीश मोहिते/नांदेड़ः महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले में एक ही परिवार के तीन सदस्यों के शव जंगल में मिलने से इलाके में हडकंप मचा है. मिले हुए शवो में पिता सहित दो बच्चों के शव शामिल हैं. बता दें एक ही परिवार के इन तीनों सदस्यों में से जहां 12 वर्षीय वेदिका और 10 वर्षीय रुपेश के शव पेड़ से लटक रहे थे तो वहीं कुछ ही दूरी पर पिता संतोष चव्हाण की लाश जमीन पर पड़ी मिली, जिसके हाथ में जहर की बोतल थी. 9 फरवरी को इन सभी के शव जंगलों में मिले थे, जिसके बाद से पूरे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है. ऐसा माना जा रहा है कि रामलू नाईक ने पहले अपने दोनो बच्चों को फांसी पर लटकाया और फिर खुद जहर खा कर जान दे दी.

आउटर दिल्ली में रस्सियों से बंधा मिला बच्ची का शव, पुलिस ने जताई दुष्कर्म की आशंका

किनवट पुलिस स्टेशन के पीआई दिलीप तिडके ने बताया कि, नांदेड के रामलू नाईक तांडा इलाके में रहने वाले संतोष चव्हाण की बीवी भाग गई थी. जिसके बाद से वह बेहद परेशान रहने लगा था. बीवी के इस तरह से चले जाने के कारण वह काफी बैचेन था. तीन दिन पहले उसे लोगों ने उसे अपने गांव से जंगल की तरफ जाते हुए देखा था. पूंछताछ में पता चला कि जब से उसे जंगल की तरफ जाते देखा गया है तब से वह दोबारा गांव में नहीं दिखा. जब तीन दिनों तक कुछ पता नहीं चला तो रिश्तेदार उसे खोजने निकले और तलाश करते वक्त तीनों के शव इस तरह संदिग्ध स्थिति में मिले हैं. जिसके बाद रिश्तेदारों ने पुलिस को इसकी सूचना दी.

अंधविश्वासः बहन पर डायन का आरोप लगाकर भाई ने गला रेतकर कर दी हत्या

आस पड़ोस वाले लोगों के साथ बात करने पर पता चला की बिवी के भाग जाने के बाद संजय काफी शर्मिंदगी महसूस करता था. ऐसा माना जा रहा है कि पत्नी के भाग जाने और समाज में हो रही बेज्जती से परेशान होकर उसने इस तरह का कठोर कदम उठाया. रिश्तोदारों ने बताया कि जब वह रामलू नाईक और उसके बच्चों की तलाश करने निकले तो पास के ही जंगल में वे लोग उन्हें मृत अवस्था में मिले. उन्होंने बताया कि पहले उन्हें रामलू की बेटी और उसके बेटे का शव एक पेड़ से लटका मिला, और उसके थोड़ी दूरी पर रामलू नाईक की लाश जमीन पर मिली. इस घटना के बारे में पुलिस का कहना है की वो मामले की जांच कर रहे हैं. पुलिस ने बताया कि इस घटना की जांच सिर्फ आत्महत्या के एंगल से नहीं की जा रही है, बल्कि अन्य पहलुओं पर भी ध्यान दिया जा रहा है.