महाराष्ट्र विधानसभा में अंतरिम बजट बिना चर्चा के मंजूर

इसमें अगले वित्तीय वर्ष (इस साल अप्रैल से जुलाई) के चार महीनों का बजटीय प्रावधान भी है.

महाराष्ट्र विधानसभा में अंतरिम बजट बिना चर्चा के मंजूर
महाराष्ट्र विधानसभा की फाइल फोटो.

मुंबई: महाराष्ट्र विधानसभा में गुरुवार (28 फरवरी) को लेखानुदान को मंजूरी दे दी गई, जिसमें अगले वित्तीय वर्ष (इस साल अप्रैल से जुलाई) के चार महीनों का बजटीय प्रावधान भी है. विपक्ष के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल और राकांपा सदस्य अजीत पवार और जयंत पाटिल ने कहा कि वे अंतरिम बजटीय प्रावधानों पर अपने भाषणों को सदन के पटल पर रख रहे हैं. 

विनियोग विधेयक और लेखानुदान को बिना किसी बहस के सर्वसम्मति से पास कर दिया गया. नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) और लोक लेखा समिति (पीएसी) की रिपोर्ट को भी सदन के पटन पर रखा गया. इसके बाद सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी गई.

राज्य के वित्त मंत्री सुधीर मुंगतीवार ने बुधवार को 2019-20 का एक अंतरिम बजट पेश किया था, जिसमें 19,784 करोड़ रूपये के अनुमानित राजस्व घाटे का अनुमान व्यक्त किया गया था और कृषि ऋण माफी के लिए विशेष कोष का प्रावधान किया गया था.