मुंबई ESIC अस्पताल आग मामला: मरने वालों की संख्या बढ़कर 10 हुई

अब तक 53 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है. अंधेरी उपनगर के मारोल में सोमवार को सरकारी ईएसआईसी कामगार अस्पताल में आग लग गई थी.

मुंबई ESIC अस्पताल आग मामला: मरने वालों की संख्या बढ़कर 10 हुई
मारोल में सोमवार को सरकारी ईएसआईसी कामगार अस्पताल में आग लग गई थी. (फाइल फोटो)

मुंबई: महानगर के एक अस्पताल में आग लगने की घटना में झुलसे एक और व्यक्ति ने गुरुवार (20 दिसंबर) को दम तोड़ दिया. 65 वर्षीय इस व्यक्ति की मौत से अब इस हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 10 हो गई है. इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि इसके अलावा 116 घायलों का शहर के सात विभिन्न अस्पतालों में उपचार चल रहा है. घायलों में कुछ बच्चे और दमकलकर्मी भी शामिल हैं. शहर के नगर निगम के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के अधिकारी ने बताया कि आग में झुलसने से घायल हुए किसान नरावड़े की अंधेरी उपनगर स्थित होली स्पिरिट अस्पताल में मौत हो गई.

उन्होंने बताया कि अब तक 53 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है. अंधेरी उपनगर के मारोल में सोमवार को सरकारी ईएसआईसी कामगार अस्पताल में आग लग गई थी. घटना में छह लोगों की उसी दिन मौत हो गयी थी. मंगलवार को दो और लोगों की मौत के साथ मरने वालों की संख्या बढ़कर आठ हो गई थी. इस 325 बिस्तर वाले अस्पताल को दमकल विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) नहीं मिला था, जो ऐसे किसी भी संस्थान के कामकाज करने के लिये अनिवार्य होता है.

इससे पहले एक अधिकारी ने बताया था कि पांच मंजिला अस्पताल में जब आग लगी, तब वहां मरीजों और आगंतुकों सहित करीब 375 लोग मौजूद थे. उन्होंने बताया कि ऐसा प्रतीत होता है कि आग निचले तल पर रखे रबड़ रोल के पास शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने मंगलवार को घटना के संबंध में जांच का आदेश दिया था और केंद्रीय श्रम मंत्रालय ने मुआवजे की घोषणा की थी.