मुंबई पुलिस ने दो युवकों की पिटाई कर उनसे पाक जाने को कहा

मुंबई के उपनगरीय बांद्रा थाने में कुछ पुलिसकर्मियों ने कथित तौर पर दो मुस्लिम युवकों की पिटाई की और उन्हें पाकिस्तान का एजेन्ट बताकर उस मुल्क में जाने को कहा। यह घटना तब हुई जब उनकी पुलिसकर्मियों के साथ झड़प हो गई थी। अधिकारियों ने घटना की जांच शुरू कर दी है।

मुंबई : मुंबई के उपनगरीय बांद्रा थाने में कुछ पुलिसकर्मियों ने कथित तौर पर दो मुस्लिम युवकों की पिटाई की और उन्हें पाकिस्तान का एजेन्ट बताकर उस मुल्क में जाने को कहा। यह घटना तब हुई जब उनकी पुलिसकर्मियों के साथ झड़प हो गई थी। अधिकारियों ने घटना की जांच शुरू कर दी है।

नगर पुलिस आयुक्त अहमद जावेद ने कहा, ‘डीसीपी ने कल शाम घटना की जांच शुरू कर दी और उचित कार्रवाई की जाएगी।’ घटना शनिवार को तड़के हुई। युवकों आसिफ शेख और दानिश शेख (19) ने आरोप लगाया है कि उनपर रात्रिकालीन ड्यूटी पर बांद्रा थाने में तैनात पुलिस निरीक्षक केदार पवार और अन्य ने हमला किया।

आसिफ के एक रिश्तेदार ने दावा किया, ‘पवार ने उन्हें पाकिस्तानी एजेंट बताकर उनसे देश छोड़ने को भी कहा।’ हालांकि, बांद्रा थाने से संबद्ध एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि युवकों को तड़के दो बजकर 30 मिनट पर बांद्रा रिक्लेमेशन से उठाया गया जब वे एक-दूसरे से लड़ रहे थे। आसिफ ने थाने में इंस्पेक्टर पर हमला किया।

अधिकारी ने कहा, ‘शनिवार की सुबह जब युवकों को थाने लाया गया तो आसिफ चिल्ला रहा था और पुलिस के साथ आक्रामक बर्ताव कर रहा था और उसने राज्य के हाई प्रोफाइल और प्रभावशाली मुस्लिम नेताओं से संपर्क होने का दावा किया।’ उन्होंने आरोप लगाया कि जब पुलिस आसिफ से पूछताछ कर रही थी तो उसने बिना किसी उकसावे के पवार को तीन घूंसे जड़ दिए।

पुलिस ने कहा कि आसिफ को बाद में जांच के लिए भाभा अस्पताल ले जाया गया तो चिकित्सकों ने कहा कि उसे मामूली चोट आई है। जब पूछा गया कि कैसे आसिफ और दानिश को चोट आई तो अधिकारी ने कहा कि जांच में सबकुछ का खुलासा होगा। इस सिलसिले में आसिफ के चाचा उमर ने एक शिकायत दर्ज कराई थी।

अधिकारी ने आरोप लगाया कि पवार पर हमला करने के बाद आसिफ ने थाने में रखी एक राइफल भी छीनने का प्रयास किया लेकिन पुलिस के सिपाहियों ने उस पर काबू पा लिया और उसका प्रयास विफल कर दिया।