DSP देविंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद जम्मू और श्रीनगर एयरपोर्ट की सुरक्षा में 'बड़ा बदलाव'

सरकार ने यह फैसला डीएसपी, एयरपोर्ट सुरक्षा, देविंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद लिया है. जिन पर आतंकियों को देश के दूसरे हिस्सों में यात्रा करवाने में मदद करने का आरोप है. 

DSP देविंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद जम्मू और श्रीनगर एयरपोर्ट की सुरक्षा में 'बड़ा बदलाव'

श्रीनगर; जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के दो एयरपोर्ट (Airport) की सुरक्षा को लेकर प्रशासन ने एक बड़ा फैसला लिया है. जनवरी महीने के अंत में जम्मू और श्रीनगर एयरपोर्ट की आंतरिक सुरक्षा (Security) सीआईएसएफ (CISF) के हवाले कर दी जाएगी. जबकि आउटर सिक्योरिटी जम्मू कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के पास ही रहेगी. 

बता दें आंतरिक सुरक्षा में एयरपोर्ट बिल्डिंग में घुसने के बाद से प्लेन के उड़ने तक की सुरक्षा शामिल होती है. अभी तक इन दोनों एयरपोर्ट की सुरक्षा की जिम्मेदारी जम्मू कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ के पास थी. 

सरकार ने यह फैसला डीएसपी, एयरपोर्ट सुरक्षा, देविंदर सिंह की गिरफ्तारी के बाद लिया है. जिन पर आतंकियों को देश के दूसरे हिस्सों में यात्रा करवाने में मदद करने का आरोप है. 

देविंदर सिंह को कुलगाम जिले के वानपोह में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी नावेद बाबू और उसके सहयोगी आसिफ के साथ गिरफ्तार किया गया. बाबू पर बीते साल अक्टूबर और नवंबर में दक्षिण कश्मीर में ट्रक ड्राइवरों और मजदूरों सहित 11 गैर स्थानीय मजदूरों की हत्या में शामिल होने का आरोप है.

सिंह को तब गिरफ्तार किया गया, जब जम्मू-कश्मीर पुलिस बाबू की गतिविधि को ट्रैक करते हुए एक वाहन को रोका. बाबू की गतिविधि उसके द्वारा अपने भाई को फोन करने के बाद ट्रैक की गई. गिरफ्तारी के समय सिंह बाबू के साथ यात्रा कर रहे थे.