भारत ने चीन से मालदीव के भी 7 लोगों को निकाला, विदेश मंत्री जयशंकर बोले- 'पड़ोसी पहले'

कोरोना वायरस से चीन में अब तक 300 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

भारत ने चीन से मालदीव के भी 7 लोगों को निकाला, विदेश मंत्री जयशंकर बोले- 'पड़ोसी पहले'
चीन के वुहान से 96 घंटों में 647 भारतीयों को दिल्ली लाया गया. (Reuters)

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप के बीच भारत सरकार ने रविवार को चीन के वुहान (Wuhan) से 323 भारतीयों के साथ सात मालदीव के नागरिकों को भी निकाला है. इस वायरस से चीन में अब तक 300 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 14 हजार लोग संक्रमित हुए हैं. विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने ट्वीट के माध्यम से कहा कि भारतीय नागरिकों के साथ सात मालदीव के नागरिकों को भी यहां लाया गया है, क्योंकि भारत अपने पड़ोसियों की फिक्र करता है.

विदेश मंत्री ने ट्वीट किया, "काम पर फिर से #पड़ोसीपहले." इसमें उन्होंने मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह, पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद और विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद को टैग किया.

इस दौरान जहां अमेरिका और कई अन्य देश अपने नागरिकों को चीन से निकाल रहे हैं, वहीं पाकिस्तान ने अपने नागरिकों को वुहान में ही रहने देने का निर्णय लिया है.

चीन में नोवेल कोरोनावायरस (Coronavirus) से मरने वाले लोगों की संख्या 304 पहुंच गई है. वहीं इससे संक्रमित लोगों की संख्या 14,380 हो गई है. चीन के वुहान (Wuhan) से 96 घंटों में 647 भारतीयों को दिल्ली लाया गया.

VIDEO: चीन में फंसे भारतीयों को घर वापस जाता देख रो पड़े पाकिस्तानी, इमरान सरकार को सुनाईं खरी-खोटी

नेशनल हेल्थ कमिशन ने कहा कि 2,110 मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है, जबकि 19544 लोगों की इससे संक्रमित होने की संभावना है. वहीं कुल 328 लोगों के स्वास्थ्य में सुधार होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई.