close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पश्चिम बंगाल : पुलिस से बचने के लिए व्यक्ति ने निगल ली बुलेट, हालत बिगड़ी

नूर इस्लाम एक सरकारी कर्मचारी है. फिलहाल रायगंज गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है.

पश्चिम बंगाल : पुलिस से बचने के लिए व्यक्ति ने निगल ली बुलेट, हालत बिगड़ी
पश्चिम बंगाल के दिनाजपुर की है घटना.

नई दिल्ली : पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर में अचनाक पुलिस ने एक घर में छापा मारा. इस दौरान घर पर मौजूद व्यक्ति ने डर के मारे कारतूस निगल लिया. घटना उत्तर दिनाजपुर के हेमताबाद थाने के अंतर्गत बरुईबाड़ी गांव की है. कारतूस निगल लेने वाले व्यक्ति का नाम नूर इस्लाम है. कारतूस निगल लेने से उसकी हालत बिगड़ गई है.

नूर इस्लाम एक सरकारी कर्मचारी है. फिलहाल रायगंज गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है. हेमताबाद थाने की पुलिस घटना की जांच में जुट गई है.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, गोली को ऑपरेशन कर बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है. नूर इस्लाम करायगंज जिला अस्पताल में ग्रुप डी कर्मी है. उसके खिलाफ पत्नी को प्रताड़ित करने का एक मामला पहले से चल रहा है. अदालत के निर्देश के बाद नूर इस्लाम के घर पर उसकी पत्नी को उसका ज़रूरी सामान लौटाने के लिए हेमताबाद थाने की पुलिस उसके घर पहुंची.

बताया जा रहा है की नूरके पास एक पिस्तौल भी होती थी, जिसे वह किसी और के पास छोड़ आया था. गलती से नूर की जेब में एक गोली रह गई. जैसे ही नूर ने पुलिस को अपने घर में देखा कि उसने खुद को बचाने के लिए गोली निगल ली. पुलिस नूर को पकड़ कर रायगंज मेडिकल कॉलेज ले गई, जहां उसका इलाज चल रहा है.

डॉक्टरें को निर्देश दिया कु इसका ऑपरेशन कर ही गोली को बाहर निकाला जाए, न कि दवाई खिलाकर. इस पूरे मामले पर आरोपी नूर का कहना है कि उसे झूठे मामले में फंसाया जा रहा है. उसने कहा कि उसकी पत्नी ने प्रताड़ना का केस किया हुआ है. इसके बारे उसे पता चला था, लेकिन कोई कागज़ नहीं पंहुचा. उसने झूठा मामला बनाने का आरोप लगाया.

नूर के पेट का X-RAY करने पर जो गोली दिखाई पड़ने पर उसने कहा कि अचानक पुलिस को देख टेंशन में उसने गोली निगल ली. हेमताबाद थाने की पुलिस घटना की जांच में जुटी है.