कोविड-19 के Omicron वैरिएंट ने बढ़ाई टेंशन! साउथ अफ्रीका से लौटा शख्स मिला कोरोना पॉजिटिव
X

कोविड-19 के Omicron वैरिएंट ने बढ़ाई टेंशन! साउथ अफ्रीका से लौटा शख्स मिला कोरोना पॉजिटिव

दक्षिण अफ्रीका से महाराष्ट्र के ठाणे जिले के डोंबिवली लौटा एक शख्स कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है, हालांकि अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि मरीज में कोविड-19 का Omicron वैरिएंट है.

कोविड-19 के Omicron वैरिएंट ने बढ़ाई टेंशन! साउथ अफ्रीका से लौटा शख्स मिला कोरोना पॉजिटिव

मुंबई: साउथ अफ्रीका में मिले कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन (Coronavirus New Variant Omicron) से दुनियाभर में दहशत का माहौल है और सरकार की चिंता बढ़ गई है. इस बीच दक्षिण अफ्रीका से महाराष्ट्र लौटा एक शख्स कोविड-19 से संक्रमित पाया गया है और शख्स को आइसोलेशन में भेज दिया गया है.

Omicron वैरिएंट से संक्रमित होने की पुष्टि नहीं

कल्याण-डोंबिवली नगर निगम (KDMC) के एक अधिकारी ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका से महाराष्ट्र के ठाणे जिले के डोंबिवली लौटा एक शख्स कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है. अधिकारी ने कहा कि इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि मरीज में कोरोना वायरस का Omicron वैरिएंट है.

24 नवंबर को डोंबिवली आया था शख्स

कोरोना वायरस से संक्रमित शख्स 24 नवंबर को साउथ अफ्रीका के केपटाउन से डोंबिवली पहुंचा था. केडीएमसी की चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रतिभा पनपाटिल ने संवाददाताओं से कहा कि दक्षिण अफ्रीका से लौटने के बाद वह व्यक्ति किसी के संपर्क में नहीं आया. अधिकारी ने कहा कि मरीज को फिलहाल केडीएमसी के आर्ट गैलरी आइसोलेशन सेंटर में भर्ती कराया गया है.

महाराष्ट्र में कोविड-19 के 8193 एक्टिव केस मौजूद

महाराष्ट्र में रविवार को कोरोना वायरस (Coronavirus in Maharashtra) 832 नए मामले सामने आए थे, जबकि महामारी की वजह से 33 मरीजों की मौत हो गई. इसके बाद राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 66 लाख 34 हजार 444 हो गई है, वहीं अब तक कोविड-19 की वजह से 1 लाख 40 हजार 941 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 8193 एक्टिव केस मौजूद हैं.

Omicron वैरिएंट को लेकर सरकार ने जारी किए दिशानिर्देश

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन (Coronavirus New Variant Omicron) से देश में तीसरे लहर का खतरा मंडराने लगा है, क्योंकि देश में अभी तक 100 पर्सेंट लोगों का वैक्सीनेशन नहीं हुआ है. ऐसे में नए स्ट्रेन का खतरा भारत के लोगों को है. नए वैरिएंट के खतरे को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है और दक्षिण अफ्रीका के अलावा ब्रिटेन समेत अत्यधिक जोखिम वाले 12 देशों से आने वाले प्रत्येक यात्री के लिए सात दिन के होम क्वारंटाइन को अनिवार्य बना दिया है. इन देशों से आने वाले यात्रियों की हवाई अड्डे या प्रवेश स्थल पर आरटी-पीसीआर जांच कराई जाएगी. जांच रिपोर्ट आने तक उन्हें वहीं इंतजार करना होगा. निगेटिव रिपोर्ट आने पर भी सात दिन होम क्वारंटाइन रहना होगा. इसके अलावा पॉजिटिव आने वाले यात्रियों के नमूने को जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए इंसाकाग (प्रयोगशालाओं के समूह) भेजा जाएगा.
(इनपुट- न्यूज एजेंसी पीटीआई)

लाइव टीवी

Trending news