close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कन्या भ्रूण जांच के नाम पर 'पेनड्राइव' लगाकर बनाता था बेवकूफ, गर्भपात करके ऐंठे लाखों रुपए

हरियाणा में लैपटॉप में पेनड्राइव लगाकर कन्या भ्रूण बताने का मामला सामने आया है. हरियाणा के बहरोड़ थाने के गांव जखराना में एक सोहल लाल यादव नाम का क्लीनिक संचालक दलाल के माध्यम से 25 हजार रुपए लेकर फर्जी जांच करता था.

कन्या भ्रूण जांच के नाम पर 'पेनड्राइव' लगाकर बनाता था बेवकूफ, गर्भपात करके ऐंठे लाखों रुपए
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जितेंद्र नरूका, अलवर. राजस्थान में लैपटॉप में पेनड्राइव लगाकर कन्या भ्रूण बताने का मामला सामने आया है. राजस्थान के बहरोड थाने के गांव जखराना में एक सोहल लाल यादव नाम का क्लीनिक संचालक दलाल के माध्यम से 25 हजार रुपए लेकर फर्जी जांच करता था. वह लैपटॉप में पेनड्राइव लगाकर महिला के पेट में कन्या भ्रूण होने की बात बताता था.  

देश में भ्रूण लिंग जांच कराना अपराध की श्रेणी में आता है. ऐसा करने पर डॉक्टर के साथ-साथ जांच कराने वाले को भी सख्त सजा का प्रावधान है. लेकिन कई जगहों पर कुछ डॉक्टर या क्लीनिक संचालक सरकारी नियमों को ताक पर रखकर पैसे की लालच में लिंग जांच करते हैं. राजस्थान के बहरोड में सोहन लाल यादव उर्फ सोनू यादव को हरियाणा पुलिस एवं स्वास्थ्य विभाग टीम ने दलाल के साथ गिरफ्तार किया है. हरियाणा पुलिस के अनुसार उन्हें कई दिनों से लगातार सूचना मिल रही थी कि बॉर्डर से सटे राजस्थान में भ्रूण लिंग जांच किया जा रहा है.

ऐसे उजागर हुआ मामला
सूचना मिलने पर पुलिस ने अपना जाल बिछाया और एक गर्भवती महिला को पैसे देकर भेजा. पहले महिला को दलाल ने हरियाणा के नारनौल बुलाया. इसके बाद बहरोड़ के पास बुलाया. राजस्थान सीमा में आने के बाद एक दिल्ली नंबर प्लेट वाली कार से गांव जखराना के पास टोल प्लाजा पर गाड़ी रोकी. एक बाइक बुलाई और इस बाइक पर दलाल मनोज गर्भवती महिला को लेकर गांव जखराना पहुंचा. जखराना में क्लीनिक पहुंचकर महिला से पैसे ले लिए और सोहनलाल और सोनू ने यादव ने लैपटॉप में पेन ड्राइव लगाकर फर्जी जांच की.

यह भी पढ़ें: मृत समझकर बच्ची को ले जा रहे थे श्मशान, रास्ते में हो गया ऐसा चमत्कार

डॉक्टरों की टीम और पुलिस ने की छापेमारी
जांच में महिला को करीब 3 माह की गर्भवती बताते हुए कन्या भ्रूण बताया. गर्भपात कराने के लिए सोनू यादव ने दवाइयां भी दीं. जिसके बाद गांव बालपुरा निवासी मनोज गर्भवती महिला को बाइक पर बिठाकर वापस छोड़ने जा रहा था. इसी बीच जाल बिछाए बैठी पुलिस हरियाणा के रेवाड़ी सिविल सर्जन डॉ कृष्ण कुमार के निर्देश पर जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दलाल को पकड़ लिया. 

क्लीनिक से ये सामान मिले
पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम दलाल को साथ लेकर क्लीनिक पहुंची. योजना के अनुसार जांच करने वाले क्लीनिक संचालक सोहनलाल उर्फ सोनू यादव को भी गिरफ्तार कर लिया गया. क्लीनिक से पुलिस ने लैपटॉप, पेन ड्राइव, गर्भपात करवाने वाली दवाइयां सहित अन्य सामान जप्त कर लिया. इसी बीच टीम ने बहरोड़ पुलिस को सूचना दी. 

यह भी पढ़ें: पाकिस्तानी अखबार का दावा, सीरियल किलर है मासूम बच्ची के रेप और कत्ल का आरोपी

25 महिलाओं का कराया गर्भपात
क्लीनिक संचालक से कड़ी पूछताछ करने पर उसने इस फर्जी खेल के बारे में पुलिस को बताया. सोनू यादव ने कहा कि वह दलाल के साथ मिलकर महिलाओं को लैपटॉप में पेन ड्राइव लगाकर कन्या भ्रूण बताकर रुपए ऐंठता था. उन्हें गर्भपात की कुछ महंगी दवाइयां बेच दिया करते थे. बहरोड़ थाने के सब इंस्पेक्टर दामोदर गुर्जर ने बताया कि क्लीनिक संचालक और दलाल मिलकर करीब 20-25 महिलाओं की जांच करवा कर गर्भपात करवा चुके हैं. दोनों पुलिस की गिरफ्त में हैं और उनसे पूछताछ की जा रही है. इस मामले में अहम खुलासे होने की संभावना है.