पंजाब के शिक्षा मंत्री को सिसोदिया का खुला चैलेंज, जारी की 250 स्कूलों की लिस्ट
X

पंजाब के शिक्षा मंत्री को सिसोदिया का खुला चैलेंज, जारी की 250 स्कूलों की लिस्ट

मनीष सिसोदिया ने स्कूलों की लिस्ट जारी करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार ने पिछले 6 सालों में सरकारी स्कूलों के इंफ्रास्ट्रक्चर को वर्ल्ड क्लास बनाया है. परगट सिंह जी भी पंजाब के ऐसे ही 250 सरकारी स्कूलों की लिस्ट जारी करें.

पंजाब के शिक्षा मंत्री को सिसोदिया का खुला चैलेंज, जारी की 250 स्कूलों की लिस्ट

नई दिल्ली: दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने पंजाब के शिक्षा मंत्री परगट सिंह की चुनौती को स्वीकार करते हुए दिल्ली के 250 सरकारी स्कूलों की लिस्ट जारी की है और खुला न्योता दिया कि पंजाब के शिक्षा मंत्री परगट सिंह आकर दिल्ली के इन सरकारी स्कूलों का दौरा करें और देखें कि पिछले 5 सालों में दिल्ली सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में क्या बदलाव किए हैं. साथ ही मनीष सिसोदिया ने पंजाब के शिक्षा मंत्री को पंजाब के 250 सरकारी स्कूलों की लिस्ट जारी करने के लिए कहा ताकि पंजाब के शिक्षा मॉडल को भी देखा जा सके और फिर दोनों शिक्षा मॉडल पर डिबेट हो ताकि पंजाब की जनता ये समझ सके कि किस राज्य का शिक्षा मॉडल ज्यादा बेहतर है.

'शिक्षा पर बात करने के लिए मजबूर हुईं पार्टी' 

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि पिछले 5-6 सालों में दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था में जो बदलाव आए हैं उसने देश की बाकी पार्टियों को शिक्षा पर सोचने, बात करने के लिए मजबूर कर दिया है और ये बेहद खुशी की बात है कि देश की राजनीति में शिक्षा एक अहम मुद्दा बन रही है. उन्होंने कहा कि हम दिल्ली के 1000 सरकारी स्कूलों की लिस्ट भी जारी कर सकते हैं और पंजाब के शिक्षा मंत्री परगट सिंह को आमंत्रित करते हैं कि वो आकर इन्हें देखें लेकिन परगट सिंह जी ने 250 स्कूलों की लिस्ट मांगी है तो वो आकर पहले इन 250 स्कूलों को देखें. उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि जब परगट सिंह जी दौरे पर आएं तो मीडिया को साथ लेकर आएं ताकि पंजाब की जनता भी दिल्ली के सरकारी स्कूलों के वर्ल्ड क्लास इंफ्रास्ट्रक्चर और क्वालिटी एजुकेशन को देख पाए और उसकी पंजाब के एजुकेशन सिस्टम के साथ तुलना कर सके.

'टीचर्स को विदेशों में ट्रेनिंग कराई'

सिसोदिया ने स्कूलों की लिस्ट जारी करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार ने पिछले 6 सालों में सरकारी स्कूलों के इंफ्रास्ट्रक्चर को वर्ल्ड क्लास बनाया है. क्वालिटी एजुकेशन के लिए टीचर्स को विदेशों में ट्रेनिंग के लिए भेजा. स्कूलों के प्रमुखों को आईआईएम जैसे संस्थानों से लीडरशिप ट्रेनिंग दिलवाई जिसकी बदौलत आज दिल्ली के सरकारी स्कूलों का रिजल्ट प्राइवेट स्कूलों से बेहतर हो गया है. इस साल दिल्ली के सरकारी स्कूलों में 12वीं बोर्ड का रिजल्ट 99.96% रहा है. हमारे स्कूल ऐसे हैं जहां एक स्कूल से नीट जैसी परीक्षाओं में 51 बच्चे क्वालीफाई कर रहे हैं. इस साल दिल्ली के सरकारी स्कूलों से लगभग 500 बच्चों ने नीट क्वालीफाई किया है और 500 बच्चों ने जेईई मेन्स क्वालीफाई किया है. साथ ही 70 बच्चों ने जेईई एडवांस क्लियर किया है.

यह भी पढ़ें; CM योगी का तीखा वार, पूछा- क्या कांग्रेस, बहन जी या बबुआ बनवा पाते राम मंदिर?

'दोनों राज्यों के शिक्षा मॉडल पर हो डिबेट' 

सिसोदिया ने कहा कि हम सम्मान के साथ निवेदन करते हैं कि आज शाम तक परगट सिंह जी भी पंजाब के ऐसे ही 250 सरकारी स्कूलों की लिस्ट जारी करें जहां शिक्षा को लेकर इतने शानदार काम हुए हों. हम भी पंजाब के स्कूलों का दौरा करेंगे और फिर दोनों राज्यों के शिक्षा मॉडल को लेकर डिबेट करेंगे ताकि पंजाब की जनता ये समझ सके कि किस राज्य का शिक्षा मॉडल ज्यादा बेहतर है.

LIVE TV

Trending news