सिसोदिया की गृह मंत्री अमित शाह को चिट्ठी- उपराज्यपाल के फैसले को बदलने की मांग की

नई दिल्लीः दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ग्रहमंत्री अमित शाह को एक पत्र लिखा है.

सिसोदिया की गृह मंत्री अमित शाह को चिट्ठी- उपराज्यपाल के फैसले को बदलने की मांग की

नई दिल्लीः दिल्ली में अनलॉक-3 पर दो फैसलों के खारिज होने से नाराज उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गृह मंत्री को चिट्ठी लिखी है. चिट्ठी में सिसोदिया ने ग्रहमंत्री से उपराज्यपाल अनिल बैजल के फैसला को बदलने की मांग की है. सिसोदिया ने कहा कि बाजार खुलेगा तो अर्थव्यवस्था सुधरेगी. सिसोदिया ने गृह मंत्री को लिखे खत में कहा, "दिल्ली के साथ दोहरी नीति अपनाई जा रही है. कारोबार बंद रखने के लिए क्यों बाध्य किया जा रहा है. दिल्ली के लाखों लोगों की उम्मीदों के साथ अन्याय हो रहा है."

सिसोदिया ने पत्र में लिखा, 'सीएम अरविंद केजरीवाल ने जब होटल और साप्ताहिक बाजारों को खोलने का फैसला किया तो आपने उपराज्यपाल के जरिए उसे पलटवा दिया. दिल्ली इस समय कोरोना के मामलों की संख्या के आधार पर देश में 11वें स्थान पर है और पिछले एक महीने में स्थिति काफी नियंत्रण में है. ऐसे समय में जब देशभर में होटल और साप्ताहिक बाजार खुले हैं, तब दिल्ली में होटल और साप्ताहिक बाजा बंद रखकर केंद्र सरकार क्या हासिल करना चाह रही है. जिस राज्य ने कोरोना को नियंत्रण में रखने में बेहतर काम किया, उसे अपने कारोबार बंद रखने के लिए क्यों बाध्य किया जा रहा है.'

सिसोदिया ने कहा, "दिल्ली का 80% कारोबार और रोजगार होटल न खुलने के कारण ठप पड़ा है. साप्ताहिक बाजार बंद रहने से 5 लाख परिवार पिछले चार माह से घर बैठे हैं. अब जबकि उन्हें उम्मीद बंधी थी कि दिल्ली में कोरोना नियंत्रण होने से उन्हें अपना कारोबार शुरू करने का अवसर मिलेगा, उन्हें बंद रखने के लिए बाध्य रखना दिल्ली की अर्थव्यवस्था और लाखों लोगों की उम्मीदों के साथ अन्याय है."