संकट में पड़ोसी का भारत ने दिया साथ; 72 घंटे में पहुंचाई मदद

मालदीव के स्वास्थ्य मंत्री अब्दुल्ला अमीन ने भारतीय राजदूत संजय सुधीर को इस खास मदद के लिए प्रशस्ति पत्र सौंपा है.

संकट में पड़ोसी का भारत ने दिया साथ; 72 घंटे में पहुंचाई मदद

नई दिल्ली: भारत ने अपने पड़ोसी देश मालदीव के अनुरोध पर त्वरित कदम उठाते हुए खसरा के प्रसार को रोकने के लिए गुरुवार को खसरा और रूबेला (एमआर) टीके की 30,000 खुराक भेज दी. विदेश मंत्रालय ने अपने एक बयान में यह जानकारी दी. बयान में कहा गया कि एमआर टीके की खुराक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया प्राइवेट लिमिटेड से खरीदी गई और तीन दिन के भीतर इसे माले पहुंचाया गया. 

मालदीव के स्वास्थ्य मंत्रालय को एक समारोह के दौरान 23 जनवरी (गुरुवार को ) ये टीके सौंपे गए. समारोह में मालदीव के स्वास्थ्य मंत्री अब्दुल्ला अमीन ने भारतीय राजदूत संजय सुधीर को प्रशस्ति पत्र सौंपा. बयान में कहा गया कि भारत का त्वरित कदम रेखांकित करता है कि स्वास्थ्य भारत और मालदीव के बीच द्विपक्षीय संबंध के मजबूत आधार स्तंभों में शामिल है.

स्वास्थ्य सहयोग पर एमओयू जून 2019 में पीएम मोदी की मालदीव यात्रा के दौरान लागू किया गया था. मालदीव से खसरे का उन्मूलन हो चुका है लेकिन पिछले एक हफ्ते में चार मामलों के नतीजे पॉजिटिव आए हैं. इतना ही नहीं, भारत मालदीव में 100 बिस्तरों का आधुनिक अस्पताल के निर्माण में भी सहयोग कर रहा है. यह हॉस्पिटल टाटा मेमोरियल सेंटर द्वारा बनाया जाएगा और 18 महीने के अंतराल में इसे पूरा किया जाएगा.