मेघालय में नतीजे साफ होने से पहले तेज हुई सियासी हलचल

एग्जिट पोलों में किसी में भी कांग्रेस को 60 सदस्‍यीय विधानसभा में स्‍पष्‍ट बहुमत मिलने का पूर्वानुमान नहीं जताया गया है.

मेघालय में नतीजे साफ होने से पहले तेज हुई सियासी हलचल
मेघालय में आखिर किसकी बनेगी सरकार (फोटो-ANI)

शिलांग : मेघालय की 59 विधानसभा सीटों पर हुए चुनावों की शनिवार हो रही काउंटिंग में सभी सीटों पर रुझान सामने आ गए हैं. रुझानों में कांग्रेस सब पर भारी पड़ती नजर आ रही है. लेकिन उसे नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) से कड़ी टक्कर मिल रही है. रुझानों में एनपीपी को 19 सीटों पर बढ़त मिली है, वहीं कांग्रेस 21 सीटों पर आगे है. वहीं बीजेपी शुरुआती रुझानों में  6 सीटों पर बढ़त हासिल करने के बाद के दो सीटों पर आ गई है. यूडीपी ने छह सीटों पर बढ़त हासिल कर ली है. अन्य के पास 11 सीटें हैं. जानकारी के मुताबिक, अहमद पटेल और कमलनाथ शिलांग के लिए रवाना हो गए हैं, ताकि वहां जीतने वाले निर्दलियों के साथ मिलजुलकर सरकार बनाने की संभावनाओं पर विचार किया जा सके. वहीं बीजेपी भी मेघालय में सरकार बनाने के लिए दिवंगत पीए संगमा की पार्टी नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) से बातचीत कर रही है. बता दें मेघालय में विधानसभा की कुल 60 सीटें हैं और 27 फरवरी को 59 सीटों पर वोटिंग हुई थी. किसी भी दल या गठबंधन को सरकार बनाने के लिए 31 सीटों पर जीत जरूरी है.

मेघालय में बन सकती है गठबंधन सरकार
मेघालय में बीजेपी गठबंधन करते हुए सरकार बना सकती है. मेघालय के बीजेपी प्रभारी नलिन कोहली ने इस बारे में मीडिया से बातचीत के दौरान संकेत दिए. नलिन कोहली ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'अगर आप अन्य पार्टियों के प्रदर्शन को देखें तो वोट कांग्रेस के खिलाफ जाते दिख रहे हैं. हमारे नेता इलेक्शन के नतीजे आने के बाद इस बात पर चर्चा करेंगे कि क्या राज्य में गठबंधन संभव है'.

सामने आते रुझानों के बीच गृह राज्य मंत्री किरण रिजीजू ने विश्वास जताया कि तीनों राज्यों में बीजेपी की ही सरकार बनेगी. उन्होंने कहा तीनों राज्य नई राजनैतिक दिशा की ओर बढ़ रहे हैं. इसका राष्ट्रीय राजनीति पर भी असर पड़ेगा.

मुख्यमंत्री मुकुल संगमा दोनों विधानसभा सीटों से जीते
मेघालय के मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस उम्मीदवार मुकुल संगमा अम्पति और सोंगसाक दोनों विधानसभा सीटों से जीत गए. चुनाव आयोग के सूत्रों के मुताबिक 2010 से राज्य के मुख्यमंत्री पद पर आसीन संगमा ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा उम्मीदवार बकुल सी हजोंग को 6,000 से ज्यादा वोटों से हराकर अम्पति सीट बरकरार रखी. वह सोंगसाक सीट पर भी जीत गए जहां उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी एनपीएफ (नेशनल पीपुल्स पार्टी) उम्मीदवार एन डी शिरा को 1,300 से ज्यादा वोटों से हराया. भाजपा तीसरे स्थान पर रही.

सीएम की पत्नी भी जीतीं
सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री की पत्नी दिक्कांची डी शिरा भी महेंद्रगंज सीट से जीत गईं. उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा उम्मीदवार प्रेमानंद कोच को 6,000 से ज्यादा वोटों से हराया.

त्रिपुरा, मेघालय, नागालैंड के नतीजों पर बोले गिरिराज सिंह, राहुल को पता है इटली कब जाना है

मेघालय की पीडब्ल्यूडी मंत्री पूर्वी शिलांग से जीतीं
मेघालय की लोक निर्माण विभाग मंत्री और कांग्रेस उम्मीदवार माजेल अम्पारीन लिंगदोह पूर्वी शिलांग सीट से विधानसभा चुनाव जीत गई हैं. उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के नील एंटोनियो को पांच हजार से अधिक मतों से हरा कर चुनाव जीता. मेघालय के गृह मंत्री और कांग्रेस उम्मीदवार एच डोनकुपार आर लिंगदोह हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार सामलिन मालजियांग से 622 मतों से हार गए.

आसान नहीं होगी कांग्रेस की राह
राजनीतिक विश्‍लेषकों का कहना है कि राज्‍य में सत्‍तारुढ़ कांग्रेस को इस बार चुनाव में हैट्रिक बनाने में मुश्किल होगी. हालांकि विशेषज्ञ यह भी मान रहे हैं कि कांग्रेस पार्टी, जो पिछले दस वर्षों से सत्ता में है, को नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से एक कठिन चुनौती का सामना करना पड़ेगा. राज्‍य में एनपीपी और भाजपा गठबंधन में है.

एग्जिट पोलों में किसी में भी कांग्रेस को 60 सदस्‍यीय विधानसभा में स्‍पष्‍ट बहुमत मिलने का पूर्वानुमान नहीं जताया गया है. राज्‍य में सरकार बनाने के लिए किसी भी राजनीतिक दल को कम से कम 30 सीटों की आवश्‍यकता होगी. 2013 के पिछले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने 29 सीटें जीती थीं.

LIVE: नागालैंड में रुझानों में BJP-एनडीपीपी गठबंधन को बढ़त

 

 

उल्‍लेखनीय है कि मेघालय चुनाव में बीते मंगलवार को कुल 18.9 लाख मतदाताओं में से 67 फीसदी मतदाताओं ने मतदान के अंतिम घंटों तक अपने मतों का प्रयोग किया था. राज्‍य में मतदान शांतिपूर्ण रहा. राज्‍य में करीब 180 मतदान केंद्रों पर 31 ईवीएम मशीनों और 41 वीवीपैट मशीनों में तकनीकी खराबी की खबरें आई थीं. राज्य विधानसभा 2013 के चुनावों में मेघालय में 87.97 फीसदी मतदान हुआ था. 

मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने आत्मविश्वास के साथ कहा कि कांग्रेस दोबारा से सत्ता में वापसी करेगी. संगमा ने कहा कि उनकी पार्टी 60 सदस्यीय राज्य विधानसभा में 31 के जादुई आंकड़े को पार करेगी. संगमा ने अमपाती विधानसभा क्षेत्र में चेंग्कोंपारा मतदान केंद्र पर अपना वोट डालने के बाद पत्रकारों से कहा था, "मुझे राज्य के लोगों पर पूरा विश्वास है. मेरा मानना है कि उनका कांग्रेस पार्टी में पूरा विश्वास है. हम जादुई आंकड़े को जरूर पार करेंगे." कांग्रेस ने 2013 चुनाव में 29 सीटें हासिल की थी. संगमा ने इस बार दो विधानसभाओं अमपाती और सोंगसक से चुनाव लड़ा है.

LIVE: त्रिपुरा के रुझानों में भाजपा सरकार के आसार, सत्ता से बाहर नजर आ रही लेफ्ट

कांग्रेस राज्य पर एक दशक से राज कर रही है और पार्टी ने सभी 60 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं, जिसमें से मंगलवार को 59 सीटों पर मतदान हुआ. विलियमनगर सीट पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के उम्मीदवार जोनाथन संगमा की 18 फरवरी को ईस्ट गारो हिल्स जिले में आईईडी विस्फोट में मौत के बाद इस सीट पर मतदान रद्द कर दिया गया था.

पूर्व केंद्रीय मंत्री और नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) की उम्मीदवार अगाथा के संगमा, गृहमंत्री एचडीआर लिंगदोह, युनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी से विपक्ष के नेता डोनकुपर रॉय और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी प्रमुख आर्डेट मिलर बासियामोइत ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. राज्‍य में कुल 18,09,818 मतदाताओं ने वोट डाले थे. इस बार चुनावों में 361 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें 31 महिलाएं हैं.