जम्मू कश्मीर : पुलिसकर्मियों की हत्या पर बोलीं महबूबा- 'बातचीत से ही निकल सकता है समस्या का हल'

महबूबा ने एक और ट्वीट कर लिखा, 'वक्त के साथ आतंकवादियों द्वारा पुलिसकर्मियों के अपहरण और फिर हत्या की वारदात में इजाफा हुआ है. 

जम्मू कश्मीर : पुलिसकर्मियों की हत्या पर बोलीं महबूबा- 'बातचीत से ही निकल सकता है समस्या का हल'
Play

श्रीनगर : जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों द्वारा पुलिसकर्मियों को अगवा कर हत्या की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने आलोचना की है. हिजबुल के आतंकियों की धमकी के बाद हत्या किए जाने पर महबूबा ने ट्वीट कर शोक व्यक्त किया और केंद्र सरकार की योजनाओं की आलोचना की. महबूबा ने अपने ट्विटर पर लिखा, 'तीन और पुलिसकर्मी आतंकवादियों की गोली से जान गवां चुके हैं. आक्रमण, सदमे और निंदा सभी के लिए व्यक्त की जाएगी, लेकिन दुर्भाग्यवश यह पीड़ित परिवारों को कोई सांत्वना नहीं देगी.'

आतंकी वारदातों को रोकने में फेल हुई केंद्र की योजना-महबूबा
इसके बाद महबूबा ने एक और ट्वीट कर लिखा, 'वक्त के साथ आतंकवादियों द्वारा पुलिसकर्मियों के अपहरण और फिर हत्या की वारदात में इजाफा हुआ है.

जाहिर सी बात है कि केंद्र सरकार की बाहुबली नीति घाटी में काम नहीं कर रही है. घाटी में वाकई ऐसी घटनाओं पर रोक लगानी है तो इसके लिए बातचीत ही एक मात्र जरिया है, जिसकी उम्मीद दूर तक नजर नहीं आ रही है.' 

Mehbooba mufti tweet on Jammu Kashmir 3 policemen kidnapped and murder by terrorists in Shopian

शोपिया से लापता हुए थे पुलिसकर्मी
जम्मू कश्मीर के शोपियां में गुरुवार रात से लापता 4 पुलिसकर्मियों में से 3 के शव शुक्रवार सुबह बरामद किए गए हैं. मृतकों में दो एसपीओ और एक पुलिस कॉन्‍स्‍टेबल शामिल हैं. फिलहाल तीसरे एसपीओ के बारे में सूचना नहीं है और उसकी तलाशी के लिए राज्‍य पुलिस और सुरक्षाबलों की तरफ से संयुक्‍त अभियान चलाया जा रहा है. 

पंचायत चुनाव बाधित करने की कोशिश 
उल्लेखनीय है इसी साल के अंत में जम्मू कश्मीर में नवंबर और दिसंबर में पंचायत चुनाव होने वाले हैं. चुनावों की घोषणा के बाद से ही जम्मू कश्मीर में आतंकिय़ों द्वारा इसे बाधित करने की धमकी दी जा रही है.