राष्ट्रपति चुनाव: हार के बाद मीरा कुमार ने कहा, 'मेरी लड़ाई सेकुलरिज्म, दलितों पिछड़ों के लिए है जो हमेशा जारी रहेगी'

विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार रहीं मीरा कुमार ने हार के बाद कहा, 'मेरी लड़ाई सेकुलरिज्म, दलितों पिछड़ों के लिए है जो हमेशा जारी रहेगी.' 

राष्ट्रपति चुनाव: हार के बाद मीरा कुमार ने कहा, 'मेरी लड़ाई सेकुलरिज्म, दलितों पिछड़ों के लिए है जो हमेशा जारी रहेगी'
विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार रहीं मीरा कुमार. (फोटो-एएनआई)

नई दिल्ली: विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार रहीं मीरा कुमार ने हार के बाद कहा, 'मेरी लड़ाई सेकुलरिज्म, दलितों पिछड़ों के लिए है जो हमेशा जारी रहेगी.'  उन्होंने सांप्रदायिक शक्तियों के खिलाफ भी अपनी आवाज बुलंद की.

इसके साथ ही उन्होंने अपने शुभचितकों का भी आभार व्यक्त किया. मीरा कुमार ने कहा, मैं अपने शुभचिंतकों का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं जिन्होंने अपना सहयोग और शुभेच्छा दी. 

इस मौके पर मीरा कुमार ने राष्ट्रपति पद के लिए चयनित रामनाथ कोविंद को शुभकामनाएं दीं. उन्होंने कहा, श्री रामनाथ कोविंद जी को मेरी शुभकामनाएं हैं. यह उनपर है कि वे कैसे संविधान की गरिमा को बनाए रखते हैं. खासतौर पर वर्तमान में चल रही चुनौतियों के दौर में.

मीरा कुमार ने ट्वीट करते हुए कहा, 'कॉलेजिमय के सभी सदस्यों कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राजनीतिक दलों के सभी नेता जिन्होंने मुझे सहयोग दिया, को धन्यवाद करना चाहती हूं.'