close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महाराष्‍ट्र में वायरल हुआ मैसेज, शरद पवार भरेंगे सूखाग्रस्‍त किसानों का मोबाइल बिल!

महाराष्‍ट्र में वायरल हो चुके इस मैसेज को लेकर शरद पवार ने ट्विट कर इसे अफवाह और असमाजिकतत्‍वों की हरकत बताई है. 

महाराष्‍ट्र में वायरल हुआ मैसेज, शरद पवार भरेंगे सूखाग्रस्‍त किसानों का मोबाइल बिल!
राष्‍ट्रवादी कांग्रेस के अध्‍यक्ष शरद पवार की उनकी महाराष्ट्र यात्रा के बाद राज्य के कई इलाकों में यह व्हॉटसअप मैसेज फैलना शुरू हो गया था.

नई दिल्‍ली: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार भी व्हॉटसएप फेक युनिवर्सिटी के शिकार बने है. महाराष्ट्र के सुखाग्रस्त किसानों का मोबाइल बिल शरद पवार भरेंगे, एक ऐसा मैसेज महाराष्ट्र में वायरल हो रहा है. इस वायरल मैसेज को लेकर शरद पवार ने आज सायबर सेल को एक शिकायत दी है. 

वहीं इस बाबत, शरद पवार ने कहा है कि पयह खबर झूठी है और यह कौन कर रहा है, इसका पता करने के लिए उन्‍होंने सायबर सेल को कहा है. उल्‍लेखनीय है कि उनके नाम से वायरल हुए इस मैसेज को लेकर पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार काफी परेशान हैं. आखिर में उन्‍होंने ट्वीटर का सहारा का सहारा लिया और यह साफ कर दिया की व्हॉटसएप पर फैलाया जा रहा मैसेज झूठा है.

अपने ट्विट मे शरद पवार ने कहा है कि महाराष्ट्र के सूखाग्रस्‍त किसानों को मदद के तौर पर उनके मोबाईल मेरे द्वारा रिचार्ज किया जाएगा. ऐसा मेसेज व्हॉटसअप पर लगातार वायरल हो रहा है. कुछ असमाजिकतत्‍व पीड़ित किसानों का गंदा मजाक उडा रहें है. उन्‍होंने अपने संदेश में कहा है कि मैं अनुरोध करता हूं कि इस अफवाह पर विश्वास ना करे. 

शरद पवार ने अपने ट्विट में यह भी कहा है कि यह मैसेज कौन फैला रहा है, इसकी तत्‍काल जांच साइबर सेल द्वारा की जानी चाहिए. उन्‍होंने झूठा मैसेज फैलाने वालों पर तत्‍काल मामला दर्ज करने के लिए भी कहा है. उल्‍लेखनीय है कि शरद पवार पिछले दिनो सुखे को लेकर महाराष्ट्र के दौरे पर थे. उस दौरान, उन्‍होंने कई किसानों के लिए मदद की थी. 

LIVE TV:

अपनी पार्टी राष्ट्रवादी कांग्रेस द्वारा पानी के टैंकर की देने की बात पवार ने कही थी. उनकी महाराष्ट्र यात्रा के बाद ही राज्य के कई इलाकों में यह व्हॉटसअप मैसेज फैलना शुरू हो गया था.