केन्द्रीय मंत्रियों को कार्यालयों से काम शुरू करने का आदेश, अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने की योजना बनाने को कहा गया

सभी केन्द्रीय मंत्रियों को सोमवार से अपने-अपने कार्यालयों से काम शुरू करने और लॉकडाउन के बाद अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने की योजना बनाने के लिये कहा गया है. संयुक्त सचिव और उससे ऊपर की रैंक के अधिकारी अपने अपने विभागों में काम शुरू करेंगे.

केन्द्रीय मंत्रियों को कार्यालयों से काम शुरू करने का आदेश, अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने की योजना बनाने को कहा गया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सभी केन्द्रीय मंत्रियों को सोमवार से अपने-अपने कार्यालयों से काम शुरू करने और लॉकडाउन (Lockdown) के बाद अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने की योजना बनाने के लिये कहा गया है. संयुक्त सचिव और उससे ऊपर की रैंक के अधिकारी अपने अपने विभागों में काम शुरू करेंगे.

सूत्रों ने शनिवार को कहा कि सभी मंत्रियों से कहा गया है कि संयुक्त सचिव और उससे ऊपर की रैंक के अधिकारी अपने अपने विभागों में काम शुरू करें. इसके अलावा प्रत्येक मंत्रालय में आवश्यक कर्मचारियों के एक तिहाई सदस्यों का उपस्थित होना जरूरी है. जूनियर अधिकारी रोटेशन के आधार पर काम करते रहेंगे.

ये भी पढ़ें: चीन में एक बार फिर फैलने लगा है कोरोना का संक्रमण, सामने आए इतने नए मामले

सूत्रों के अनुसार सरकार कोविड-19 के हॉस्पॉट और लॉकडाउन खत्म होने के बाद अर्थव्यवस्था को रफ्तार देने के उपायों पर ध्यान केन्द्रित कर रही है.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को कोरोना के खिलाफ लॉकडाउन का ऐलान करते हुए लोगों से घरों में रहने की अपील की थी और कहा था जान है तो जहान है. शनिवार को मुख्यमंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में पीएम ने कहा, अब स्वस्थ और समृद्ध भारत के लिए जान भी जरूरी है और जहान भी. देश का प्रत्येक व्यक्ति दोनों की चिंता करते हुए अपना दायित्व निभाएगा. प्रधानमंत्री का ये बयान कोरोना से निपटने में भारत की रणनीति की जीत का संकेत देता है.

पीएम मोदी ने कहा, "जब मैंने राष्ट्र के नाम संदेश दिया था तो प्रारंभ में बल दिया था कि हर नागरिक की जान बचाने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बहुत आवश्यक है. देश के अधिकतर लोगों ने इस बात को समझा और घरों में रहकर अपना दायित्व भी निभाया. हम सभी ने भी इसी मंत्र पर चलते हुए देशवासियों की जिंदगी बचाने का प्रयास किया. अब भारत के उज्जवल भविष्य के लिए, समृद्ध और स्वस्थ भारत के लिए जान भी, जहान भी दोनों पहलुओं पर ध्यान आवश्यक है." 

ये भी पढ़ें: शख्स पर लगा PM केयर फंड में 50 लाख रुपये देने का झूठ बोलने का आरोप, जानें क्या है पूरा मामला

उन्होंने आगे कहा, "जब देश का प्रत्येक व्यक्ति जान भी और जहान भी, दोनों की चिंता करते हुए अपने दायित्व निभाएगा, सरकार और प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पालन करेगा, तो कोरोना के खिलाफ हमारी लड़ाई औऱ मजबूत होगी."

2 हफ्ते तक बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन
देश में लॉकडाउन 2 हफ्ते बढ़ाया जा सकता है. लगभग सभी मुख्यमंत्रियों ने आज पीएम मोदी को लॉकडाउन बढ़ाने का सुझाव दिया. दिल्ली के सीएम केजरीवाल के मुताबिक देश में लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है. अरविंद केजरीवाल ने थोड़ी देर पहले ट्वीट करके लिखा है कि पीएम मोदी ने लॉकडाउन बढ़ाने का सही फैसला किया है. केजरीवाल के मुताबिक लॉकडाउन की वजह से दुनिया के कई देशों से भारत की हालत बेहतर है.  लॉकडाउन की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जान भी, जहान भी. पीएम मोदी ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बहुत आवश्यक है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.