नजीब की मां और बहन को हिरासत में लिया गया, बाद में छोड़ा गया

पिछले 23 दिन से लापता जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र नजीब अहमद को खोजने में पुलिस से प्रयास तेज करने की मांग करते हुए इंडिया गेट तक विरोध मार्च निकाल रहे छात्रों के साथ शामिल नजीब की मां और बहन को हिरासत में ले लिया गया।

नई दिल्ली : पिछले 23 दिन से लापता जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्र नजीब अहमद को खोजने में पुलिस से प्रयास तेज करने की मांग करते हुए इंडिया गेट तक विरोध मार्च निकाल रहे छात्रों के साथ शामिल नजीब की मां और बहन को हिरासत में ले लिया गया।

नजीब की मां फातिमा नफीस को एक तरह से पुलिस ने अन्य छात्रों के साथ बस में खींच लिया जब वे इंडिया गेट जा रहे थे। इसकी आलोचना करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने थाने जाने का फैसला किया।

फातिमा और उनकी बेटी सदफ को बाद में छोड़ दिया गया।

इससे पहले आज दिन में केजरीवाल ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की और कहा कि उन्हें आश्वासन दिया गया है कि इस मुद्दे पर राष्ट्रपति गृहमंत्रालय और जेएनयू से रिपोर्ट मांगेंगे।

उन्होंने कहा, ‘नजीब के लापता होने के 22 दिन बाद पुलिस ने उसके साथ झगड़े में शामिल रहे लोगों से कल पूछताछ की थी। वह भी औपचारिकता थी। हमने राष्ट्रपति को मामले से अवगत कराया। उन्होंने हमें आश्वासन दिया कि वह इस संबंध में दिल्ली पुलिस और जेएनयू से रिपोर्ट मांगेंगे।’ मुख्यमंत्री ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपकर जेएनयू के हालात पर चिंता प्रकट की।