नागालैंड: गुस्‍साई भीड़ ने रेप के आरोपी को जेल से निकालकर चौराहे पर दी फांसी, केंद्र ने दिए जांच के आदेश

नागालैंड के दीमापुर में हजारों लोगों की गुस्‍साई भीड़ ने दीमापुर सेंट्रल जेल में बंद बलात्‍कार के एक आरोपी को पहले जेल से निकाला और फिर उसे चौराहे पर ले जाकर सरेआम फांसी पर लटका दिया। जानकारी के अनुसार, गुस्‍साई भीड़ ने आरोपी को रेप के आरोपी को पहले जेल से बाहर निकाला और फिर उसे पीट-पीटकर मार डाला। इसके बाद उसे चौराहे पर ले जाकर फांसी पर लटका दिया। उधर, इस घटना के बाद हालात को नियंत्रण में लेने के लिए केंद्र सरकार ने नागालैंड में फोर्स की तैनाती कर दी है। वहीं, केंद्र ने दीमापुर की घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं।

नागालैंड: गुस्‍साई भीड़ ने रेप के आरोपी को जेल से निकालकर चौराहे पर दी फांसी, केंद्र ने दिए जांच के आदेश

दीमापुर/नई दिल्‍ली : नागालैंड के दीमापुर में हजारों लोगों की गुस्‍साई भीड़ ने दीमापुर सेंट्रल जेल में बंद बलात्‍कार के एक आरोपी को पहले जेल से निकाला और फिर उसे चौराहे पर ले जाकर सरेआम फांसी पर लटका दिया। जानकारी के अनुसार, गुस्‍साई भीड़ ने आरोपी को रेप के आरोपी को पहले जेल से बाहर निकाला और फिर उसे पीट-पीटकर मार डाला। इसके बाद उसे चौराहे पर ले जाकर फांसी पर लटका दिया। उधर, इस घटना के बाद हालात को नियंत्रण में लेने के लिए केंद्र सरकार ने नागालैंड में फोर्स की तैनाती कर दी है। वहीं, केंद्र ने दीमापुर की घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। वहीं, दीमापुर में हुई हिंसा के बाद प्रशासन ने अब वहां कर्फ्यू लगा दिया है।

दूसरी ओर, नागालैंड के वाणिज्यिक शहर दीमापुर में शुक्रवार को जन-जीवन सामान्य होने लगा है, हालांकि इलाके में अभी भी धारा 144 लागू है। वहीं, केंद्र सरकार ने इस घटना को लेकर नागालैंड से रिपोर्ट मांगी है।

आरोपी पर एक आदिवासी लड़की से रेप का आरोप था और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, लेकिन इसके बाद भी लोगों का गुस्सा नहीं थमा। बताया जा रहा है कि हजारों लोगों ने दोपहर को दीमापुर सेंट्रल जेल पर हमला बोला। गुस्साई भीड़ ने रेप के एक आरोपी को जेल से निकालने के बाद उसकी पीटपीट कर हत्या कर दी। भीड़ ने आरोपी को गुरुवार को तकरीबन छह बजे घसीट कर बाहर निकाला और फिर भीड़ ने उसे सड़क के एक चौक पर फांसी लगा दी। वहीं भीड़ को हटाने के लिए पुलिस ने फायरिंग की, जिसमें कुछ लोग घायल हो गए।

जेल की सुरक्षा सीआरपीएफ के गार्ड्स के हवाले थी, लेकिन वो आरोपी को भीड़ के गुस्से से बचा नहीं सके। पहले भीड़ ने जेल पर हमला किया और रेप के आरोपी को वहां से निकाला। इसके बाद गुस्साई भीड़ ने उसे करीब सात किलोमीटर तक घसीटा। बताया जा रहा है कि इसी दौरान लोगों की पिटाई से उसकी मौत हो गई। बाद में लोगों ने उसे चौराहे पर ले जाकर फांसी पर लटका दिया। जानकारी के मुताबिक आदिवासी लड़की से बलात्कार 23 फरवरी को हुआ था। रेप का आरोप एक बांग्लादेशी नागरिक फरीद खान पर था। पीड़ित लड़की दीमापुर के एक कॉलेज की छात्रा है। इस घटना के बाद से दीमापुर में नगा स्टूडेंट फेडरेशन ने छात्रा के समर्थन में मार्च निकाला और धीरे-धीरे ये प्रदर्शन तेज होता गया और आज इसने उग्र रूप धारण कर लिया।

आरोपी की पहचान 35 वर्षीय सयद फरीद खान के रूप में हुई है और जो सैकेंड हैंड कार डीलर था। बताया जा रहा है कि वो असम प्रवासी था, लेकिन मूल रूप से बांग्लादेश का था। दीमापुर के एसपी मीरेन जामीर ने कहा कि स्थिति बेहद तनावपूर्ण है। हम इसे नियंत्रण में लेने की कोशिश कर रहें हैं। पूरे दीमापुर की सड़कों पर हजारों लोग निकल आए। भीड़ में शामिल लोग वी वॉन्ट जस्टिस के नारे लगा रहे थे। शहर के सभी बाजार बंद हो गए और भीड़ धीरे-धीरे दीमापुर सेंट्रल जेल की तरफ बढ़ने लगी। शाम 4 बजे के करीब भीड़ ने सेंट्रल जेल पर कब्जा कर लिया और आरोपी को वहां से निकाल लिया और बाद में उसकी हत्या कर दी। इस घटना के बाद आस-पास के इलाके में सुरक्षा व्यवस्था सख्त कर दी गई है। नगालैंड के मुख्य सचिव पंकज कुमार ने कहा है कि ये बेहद गंभीर मामला और इसकी जांच के आदेश दे दिए गए हैं। इस घटना के बाद क्षेत्र में काफी तनाव फैल गया। मामले को देखते हुए क्षेत्र में धारा 144 लगा दी गई, लेकिन इसके बावजूद पुलिस भीड़ को काबू में नहीं कर पाई। दूसरी तरफ नागालैंड पुलिस ने गृह मंत्रालय से और फोर्स भी मांगी है और आर्मी को भी अलर्ट कर दिया गया है।

गौरतलब है कि पुलिस के मुताबिक 23 फरवरी को आरोपी ने एक नागा समुदाय की एक लड़की के साथ कई बार दुष्कर्म किया। जिसके बाद उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.