बचपन में चुराता था 'पेन से स्याही' आज बन गया शातिर चोर, पढ़िए... 'चोर का सफरनामा'

फरीदाबाद की क्राइम ब्रांच ने उसे मोबाइल चोरी के एक मामले में गिरफ्तार किया है जबकि एक आरोपी फरार चल रहा है.

बचपन में चुराता था 'पेन से स्याही' आज बन गया शातिर चोर, पढ़िए... 'चोर का सफरनामा'
फरीदाबाद पुलिस ने एक चोर के बारे में खुलासा किया है कि वह बचपन से ही चोरियां किया करता था (प्रतीकात्मक तस्वीर)

फरीदाबाद: फरीदाबाद से चोरी का एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें एक चोर के बारे में खुलासा हुआ है कि वह बचपन से ही चोरियां किया करता था. जैसे-जैसे उस चोर की उम्र बढ़ती गई चोरी की चीजें बदलती गईं. बचपन में जहां वह अपने स्कूल में साथियों के पेन से स्याही (इंक) चोरी किया करता था फिर उसके बाद जब थोड़ा बड़ा हुआ तो सड़कों पर लगी रेहड़ियों से फल चोरी करने लगा. अब उसकी उम्र बढ़ी तो पहले कबाड़ फिर उसने मोबाइल फोन पर हाथ साफ करना शुरू कर दिया. अपने बचपन से लगातार चोरियों में मशगूल रहा ये शख्स फिलहाल पुलिस गिरफ्त में है.

ऐसे पकड़ा गया शातिर चोर
फरीदाबाद की क्राइम ब्रांच ने उसे मोबाइल चोरी के एक मामले में गिरफ्तार किया है जबकि एक आरोपी फरार चल रहा है. आरोपी के कब्जे से पुलिस ने काफी मात्रा में मोबाइल फोन भी बरामद किये हैं. घटना का खुलासा करते हुए मोबाइल शोरूम में चोरी की घटना का पुलिस ने सीसीटीवी भी जारी किया है. सीसीटीवी में यह चोर मोबाइल की घटना को अंजाम देता साफ दिखाई दे रहा है. मोबाइल चोर की पहचान फरीदाबाद के पावटा गांव में रहने वाले विकास के तौर पर हुई है. 

कई मोबाइल फोन बरामद
विकास को क्राइम ब्रांच सेक्टर-56 पुलिस ने मोबाइल शोरूम में चोरी होने के बाद बरामद सीसीटीवी में पहचान कर गिरफ्तार किया गया है. मोबाइल शोरूम में हुई इस चोरी को विकास ने अपने एक साथी के साथ अंजाम दिया है. दूसरा साथी अभी पुलिस के हाथ नहीं लगा है. पुलिस की मानें तो स्कूल टाइम में विकास पेन की इंक चोरी किया करता था और उसके बाद रेहड़ियों से फल चोरी करने लगा. उसके बाद कबाड़ा और अब बड़ी चोरी की घटनाओं को अंजाम देने लगा. पुलिस ने आरोपी के कब्जे से कई मोबाइल फोन भी बरामद किए हैं.

पहली बार पहुंचा पुलिस गिरफ्त में
आरोपी की मानें तो उसने अपने साथी के साथ मोबाइल चोरी की घटना को अंजाम दिया था. इससे पहले वह कबाड़ की चोरी किया करता था. पुलिस ने उसे पहली बार गिरफ्तार किया है. इससे पहले उसे घर के लोगों ने चोरी के मामले में पकड़ा था. उसे अपनी गलती पर पछतावा है और आगे से चोरी ना करने की बात कबूल रहा है.