पीएम मोदी ने पंजाब सरकार से केंद्र की योजनाओं पर काम तेज करने के लिए कहा

प्रधानमंत्री ने कहा, 'पंजाब सरकार अमृतसर, लुधियाना और जालंधर की स्मार्ट सिटी परियोजनाओं तथा अमृत योजनाओं को धीमी गति से लागू कर रही है. सरकार को नींद से जागना चाहिए. 

पीएम मोदी ने पंजाब सरकार से केंद्र की योजनाओं पर काम तेज करने के लिए कहा
पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो साभार - IANS)

गुरदासपुर: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पंजाब सरकार पर केंद्र की योजनाओं को 'धीमी गति' से लागू करने का बृहस्पतिवार को आरोप लगाया. उन्होंने अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली राज्य सरकार को नींद से 'जागने और जनहित की परियोजनाओं को समय पर पूरा करने' के लिए कहा.

शिअद-बीजेपी गठबंधन द्वारा आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'पंजाब सरकार अमृतसर, लुधियाना और जालंधर की स्मार्ट सिटी परियोजनाओं तथा अमृत योजनाओं को धीमी गति से लागू कर रही है. सरकार को नींद से जागना चाहिए और जन हित की योजनाओं को समय पर पूरा करना चाहिए.' उन्होंने बताया कि एनडीए सरकार ने पिछले चार वर्षों में गुरदासपुर और पंजाब के बाकी हिस्सों के लिए कई योजनाएं शुरू की.

उन्होंने दावा किया कि रावी नदी का पानी कई दशकों तक पंजाब और जम्मू कश्मीर द्वारा इस्तेमाल किए बिना पाकिस्तान में बहता रहा. उन्होंने कहा,‘एनडीए को प्राकृतिक संसाधन की बर्बादी स्वीकार्य नहीं है.’ उन्होंने कहा कि केंद्र ने जल संसाधन के लिए चार महीने पहले शाहपुरकंडी बांध परियोजना को मंजूरी दे दी.

पीएम मोदी ने कहा कि अगले तीन से चार महीने में परियोजना पूरी हो जाएगी और इससे गुरदासपुर तथा पंजाब के अन्य हिस्सों और जम्मू कश्मीर में हजारों हेक्टेयर भूमि की सिंचाई में मदद मिलेगी. उन्होंने कहा कि पंजाब को शाहपुरकंडी परियोजना से 200 मेगावॉट से अधिक की बिजली मिल सकेगी.

प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र ने राजस्थान और सिरहिंद फीडर कनाल के पुन: निर्माण के लिए 800 करोड़ रुपये का बजट दिया जिससे करीब 1.75 लाख हेक्टेयर भूमि की सिंचाई में मदद मिलेगी. उन्होंने बताया कि एनडीए सरकार राज्य में आधुनिक गोदाम, कोल्ड स्टोरेज और खाद्य प्रसंस्करण ईकाई स्थापित कर रही है.

पीएम मोदी ने कहा कि फाजिल्का में मेगा फूड पार्क बनाया जा रहा है. लुधियाना और कपूरथला में ऐसे ही पार्क बनाने की मंजूरी दी जा चुकी है. उन्होंने पंजाब के विकास के लिए बठिंडा में एम्स बनाने समेत एनडीए के कई अन्य कदमों का जिक्र किया.

पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को आसान बना रही है और गुरुद्वारों में सामुदायिक रसोई में इस्तेमाल होने वाले सामानों को जीएसटी के दायरे से बाहर कर दिया गया.उन्होंने कहा, ‘अब गुरुद्वारों में सामुदायिक रसोइयों के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले 99 फीसदी सामान 18 फीसदी के कर स्लैब से नीचे हैं.’

जीएसटी पर विपक्ष की आलोचना को दरकिनार करते हुए मोदी ने कहा कि इससे कर प्रणाली में पारदर्शिता आई. उन्होंने कहा, ‘चूंकि हमें सुझाव मिल रहे हैं तो सरकार जीएसटी को आसान तथा और प्रभावी बनाने की कोशिश कर रही है.’

प्रधानमंत्री ने कहा,‘अब आप जानते हो कि आप साबुन, जूते जैसे सामान पर कितना कर दे रहे हैं. इससे पहले यह पता नहीं चलता था. यह पारदर्शी तंत्र है जो नए भारत का आधार है.’ उन्होंने कहा कि सरकार ने बुधवार को एक फैसला लिया जिससे छोटे कारोबारियों और निर्यातकों को लाभ मिलेगा.

पीएम मोदी ने गुरदासपुर के विकास के लिए अभिनेता से नेता बने विनोद खन्ना के प्रयासों को याद किया. दिवंगत बीजेपी सांसद विनोद खन्ना गुरदासपुर का प्रतिनिधित्व करते थे. उन्होंने कहा,‘विनोद खन्ना के निधन के बाद यह गुरदासपुर का मेरा पहला दौरा है.’

उन्होंने कहा, ‘विनोद खन्ना ने इस स्थान की प्रगति के लिए कोशिशें की. हम आधुनिक और समृद्ध गुरदासपुर देखना चाहते है. हमें उनके सपने को पूरा करना होगा.’ प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के मार्गदर्शन में शिअद-बीजेपी राज्य की समृद्धि और प्रगति के लिए कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही है.

(इनपुट - भाषा)