कमजोर को दबाने की राजनीति कर रहे हैं PM मोदी , RSS और बीजेपी : राहुल गांधी

फरीदाबाद में दबंगों के हमले में अपने दो बच्चों को खोने वाले एक दलित परिवार से मिलने यहां आए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर गरीबों को ‘दबाने की राजनीति’ करने का आरोप लगाया और कहा कि इसी के कारण ऐसी घटनाएं होती हैं।

कमजोर को दबाने की राजनीति कर रहे हैं PM मोदी , RSS और बीजेपी : राहुल गांधी

फरीदाबाद: फरीदाबाद में दबंगों के हमले में अपने दो बच्चों को खोने वाले एक दलित परिवार से मिलने यहां आए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर गरीबों को ‘दबाने की राजनीति’ करने का आरोप लगाया और कहा कि इसी के कारण ऐसी घटनाएं होती हैं।

गांधी ने कहा, ‘ प्रधानमंत्री, राज्य के मुख्यमंत्री और पूरी भाजपा और संघ का यही रख है। उनका रख है कि यदि कोई कमजोर है तो उसे दबाया जा सकता है। आपने जो देखा है वह इसी रख का परिणाम है।’’ उन्होंने यहां एकत्र हुए ग्रामीणों और पीड़ितों के परिवार से मुलाकात की। कथित रूप से दबंगों ने कल तड़के एक दलित परिवार के घर में आग लगा दी थी जिससे दो बच्चों की जलने से मौत हो गई थी।

राहुल ने कहा, ‘ हरियाणा में गरीबों के लिए कोई सरकार नहीं है और गरीब लोगों को यहां निशाना बनाया जा रहा है जो पूरी तरह से गलत है। मैंने पीड़ितों के परिवार को भरोसा दिलाया है कि सरकार पर दबाव बनाने वे जो कुछ भी मुझसे चाहते हैं, मैं उनके लिए वह करूंगा।’

एक संवाददाता के इस सवाल पर कि क्या वह इस मामले पर राजनीति कर रहे हैं, राहुल ने आक्रोशित स्वर में कहा, ‘ किसी के यहां आने पर जब कोई ऐसा कहता है, तो यह अपमानजनक है। यह मेरे लिए अपमानजनक नहीं है। यह इन लोगों के लिए अपमानजनक है। फोटो खिंचवाने का मौका क्या होता है? आपका क्या मतलब है? लोग मर रहे हैं। मैं ऐसे स्थानों पर आता रहूंगा।’ बच्चों समेत दलितों ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग को लेकर आज फरीदाबाद राजमार्ग बाधित कर दिया।

कुछ दबंगों ने बल्लभगढ के निकट सुनपेड़ गांव में बीती देर रात एक दलित परिवार के घर को आग लगा दी थी जिससे उस परिवार के दो बच्चों की मौत हो गई और उनके माता - पिता गंभीर रूप से झुलस गए। एक पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि 11 लोगों के खिलाफ हत्या, दंगा करने और अन्य आरोपों के तहत मामला दर्ज किया गया है।

हमलावरों ने कथित रूप से खिड़की में से पेट्रोल छिड़का और घर को आग लगा दी जिसके कारण ढाई साल के वैभव और उसकी 11 महीने की बहन दिव्या की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी । उनकी मां रेखा 70 फीसदी जल गयी जिसे इलाज के लिए दिल्ली ले जाया गया है जबकि उनके पिता जितेन्द्र भी परिवार को बचाने के प्रयास में झुलस गए ।