close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जम्मू कश्मीर को लेकर मोदी कैबिनेट की बैठक आज, हो सकता है बड़े पैकेज का ऐलान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra modi) की अगुवाई में बुधवार को कैबिनेट की बैठक होगी. सूत्रों का कहना है कि बैठक जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) को लेकर बड़ा ऐलान किया जा सकता है. 

 जम्मू कश्मीर को लेकर मोदी कैबिनेट की बैठक आज, हो सकता है बड़े पैकेज का ऐलान
जम्मू कश्मीर पर मोदी कैबिनेट करेगी बैठक. फाइल तस्वीर

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra modi) की अगुवाई में बुधवार को कैबिनेट की बैठक होगी. सूत्रों का कहना है कि बैठक जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) को लेकर बड़ा ऐलान किया जा सकता है. माना जा रहा है कि मोदी सरकार जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के लिए एक बड़े पैकेज का ऐलान कर सकती है. बताया जा रहा है कि जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में हालात सामान्य करने के कदम पर भी कैबिनेट में चर्चा होगी. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में विकास की रफ्तार तेज करने के लिए पैकेज का ऐलान कर सकती है.

इससे पहले मंगलवार को जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम, 2019 पर चर्चा के लिए गृह मंत्रालय की अंतर-मंत्रालयी बैठक हुई. यह अधिनियम भूतपूर्व राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटता है. इस बैठक की अध्यक्षता नव नियुक्त केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने की. दोपहर बाद शुरू हुई बैठक में केंद्र सरकार के सचिव ने भाग लिया. यह भी पता चला है कि गृह सचिव जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को रद्द करने के बाद राज्य के हालात का जायजा लेंगे. 

अनुच्छेद 370 को पांच अगस्त को निष्प्रभावी किए जाने के बाद कार्यभार संभालने वाले भल्ला की जम्मू-कश्मीर पर यह पहली औपचारिक बैठक है और इसमें जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम 2019 पर चर्चा हुई. यह अधिनियम राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों- जम्मू एवं कश्मीर (विधानसभा के साथ) तथा लद्दाख में बांटता है.

लाइव टीवी देखें-:

सूत्रों ने कहा कि बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल के जम्मू एवं कश्मीर के हालात पर दी गई फीडबैक पर भी चर्चा हुई. डोभाल ने कश्मीर घाटी का दौरा करने के बाद गृह मंत्रालय से एक फीडबैक साझा किया था.

इस बैठक में अतिरिक्त सचिव (जम्मू एवं कश्मीर खंड) ज्ञानेश कुमार भी भाग ले रहे हैं, जिनका विभाग जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद और नीति के मामलों को देखता है. पिछले सप्ताह इंटेलीजेंस ब्यूरो के निदेशक अरविंद कुमार व कुछ अन्य अधिकारियों ने भी जम्मू-कश्मीर का दौरा किया था.