मोदी सरकार खत्म करेगी पांच साल से खाली पड़े पद, विभागों से मांगी रिपोर्ट

सरकार पिछले पांच साल से खाली पड़े सभी पदों को समाप्त करने की योजना बना रही है. उसने इस संदर्भ में सभी मंत्रालयों और विभागों को व्यापक रिपोर्ट सौंपने को कहा है. 

मोदी सरकार खत्म करेगी पांच साल से खाली पड़े पद, विभागों से मांगी रिपोर्ट
कुछ विभागों और मंत्रालयों ने सौंप दी है अपनी रिपोर्ट (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: सरकार पिछले पांच साल से खाली पड़े सभी पदों को समाप्त करने की योजना बना रही है. उसने इस संदर्भ में सभी मंत्रालयों और विभागों को व्यापक रिपोर्ट सौंपने को कहा है. एक कार्यालय ज्ञापन में वित्त मंत्रालय ने कहा कि उसने सभी मंत्रालयों और विभागों से पांच साल से खाली पड़े पदों को समाप्त करने के लिए कार्रवाई रिपोर्ट देने को कहा है. कुछ विभागों और मंत्रालयों ने जवाब दिया लेकिन कुछ ने व्यापक रिपोर्ट देने के बजाए महज जरूरी सूचना उपलब्ध करा दी है.

16 जनवरी को भेजा गया ज्ञापन
16 जनवरी 2018 को भेजे कार्यालय ज्ञापन के अनुसार, ‘‘इसलिए सभी मंत्रालयों : विभागों के वित्तीय सलाहकारों और संयुक्त सचिवों से अनुरोध है कि वे मंत्रालयों या संबंधित विभागों के उन पदों को चिन्हित करें जो पांच साल से अधिक समय से खाली हैं और इन पदों को समाप्त करने के लिए एक व्यापक रिपोर्ट दें.’’ शुरुआती अनुमान के अनुसार केंद्र सरकार में कई हजार पद पांच साल या अधिक समय से खाली पड़े हैं.

स्टीफन हॉकिंग की तरह है पिता की हालत, बेटे ने नौकरी छोड़ घर में ही बनाया ICU

4 लाख से ज्यादा पद खाली
वित्त मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक कुल 36.33 लाख स्वीकृत पदों में से 32.21 लाख पद बहाल हैं. करीब 11.36 प्रतिशत यानी 4 लाख 12 हजार 752 पद खाली पड़े हैं. मंत्रालय के व्यय विभाग ने हाल ही में खाली पदों का आंकड़ा रिपोर्ट में जारी किया था.

जानिए भारत के किस राज्य में दो से ज्यादा बच्चे वालों को नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी !

रिपोर्ट के मुताबिक समूह-ए में 13.04 फीसदी 15284 पद खाली हैं. समूह-ब में राजपत्रित वर्ग में 19.33 फीसदी यानी 26310 पद खाली पड़े हैं और गैर-राजपत्रित वर्ग में 29.52 प्रतिशत 49 हजार 740 पद रिक्त हैं. सबसे अधिक पद समूह-सी में खाली हैं. इस समूह में बड़े पैमाने पर 10 फीसदी यानी 3.21 लाख पद खाली पड़े हैं.