मानसून पूरे देश में 12 दिन पहले पहुंचा, इन राज्यों में बिजली गिरने से 10 की मौत

2013 में मानसून 16 जून को पूरे देश में पहुंच गया था. उसी समय उत्तराखंड में भीषण बाढ़ भी आई थी.

मानसून पूरे देश में 12 दिन पहले पहुंचा, इन राज्यों में बिजली गिरने से 10 की मौत
प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: मानसून अपनी निर्धारित सामान्य तिथि से 12 दिन पहले शुक्रवार को पूरे देश में पहुंच गया. जिसके चलते देश के कुछ हिस्सों में भारी बारिश हुई. इस बीच उत्तर प्रदेश और झारखंड में बिजली गिरने की घटनाओं में 10 लोगों की मौत हो गई.

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने अपनी विशेष दैनिक मौसम रिपोर्ट में कहा, ‘दक्षिण पश्चिम मानसून राजस्थान, हरियाणा और पंजाब के बाकी हिस्सों में आगे बढ़ गया है और यह आज 26 जून को पूरे देश में पहुंच गया.’

मौसम विभाग ने कहा कि मानसून के पूरे देश में पहुंचने की सामान्य तारीख 8 जुलाई होती है. इस साल दक्षिण पश्चिम मानसून सामान्य तारीख से 12 दिन पहले पूरे देश में पहुंच गया है.

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा, ‘2013 के बाद मानसून इस वर्ष इतनी तेजी से देश में छाया है. 2013 में मानसून 16 जून को पूरे देश में पहुंच गया था. उसी समय उत्तराखंड में भीषण बाढ़ भी आई थी.’

मौसम विभाग ने शुक्रवार शाम पांच बजे एक बुलेटिन में कहा कि बीते 24 घंटों के दौरान, उत्तर-पूर्व राजस्थान के ऊपर क्षोभमंडल के निचले स्तरों पर चक्रवाती परिसंचरण के साथ-साथ पश्चिम राजस्थान और पास के पंजाब और हरियाणा राज्यों में कई जगहों पर बारिश हुई है.

ये भी पढ़ें- असम में बाढ़ से स्थिति हुई विकराल, अब तक 15 की मौत; 2.53 लाख लोग प्रभावित

बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र जो पश्चिम और उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ा और मध्य भारत के ऊपर चक्रवाती परिसंचरण से मानसून को आगे बढ़ने में मदद मिली.

मानसून आमतौर पर एक जून को केरल पहुंचता है और इसे पश्चिमी राजस्थान के श्रीगंगानगर पहुंचने में 45 दिन का समय लगता है जो कि देश में इसका आखिरी स्थान है.

मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों में बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में भारी बारिश की भविष्यवाणी की है. अगले चार-पांच दिनों के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में कुछ स्थानों पर गरज के साथ बारिश होने और बिजली गिरने की आशंका है.

मौसम विभाग ने कहा कि इस मौसम पैटर्न के कारण 26 से 27 जून को बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर भारी से अत्यंत भारी वर्षा होने की आशंका है. 28-29 जून को भी मूसलाधार बारिश की आशंका है.

LIVE TV