Breaking News

कोरोना काल में इतना बदल गया है आपका मुंबई एयरपोर्ट, यात्रा से पहले जान लें ये जरूरी बातें

कोरोना काल में हवाई सफर का तौर तरीका बदल गया है. अब आपको एयरपोर्ट आते ही कई नियमों का पालन करना होगा.

कोरोना काल में इतना बदल गया है आपका मुंबई एयरपोर्ट, यात्रा से पहले जान लें ये जरूरी बातें
(फाइल फोटो)

मुंबई: देश का सबसे व्यस्त एयरपोर्ट जहां से हर दिन करीब 980 विमान उड़ान भरते हैं, तकरीबन 60 दिनों के बाद शुरू हुआ. लेकिन अब यहां पहले जैसा कुछ भी नहीं रहा. अब जब आप मुंबई एयरपोर्ट पर जाएंगे तो आपको सबकुछ बदला हुआ सा नजर आएगा. दरअसल, मुंबई एयरपोर्ट कोरोना काल में सुरक्षित सफर के लिए तैयार हो गया है. आपको ले चलते हैं मुंबई एयरपोर्ट और रूबरू कराते हैं हवाई सफर के नए कायदे कानून से-

कोरोना काल में हवाई सफर का तौर तरीका बदल गया है. अब आपको एयरपोर्ट आते ही कई नियमों का पालन करना होगा. यहां हर तरफ मार्किंग कर दी गई है जिन्हें आपको फॉलो करना ही होगा. एयरपोर्ट पर ज्यादा से ज्यादा कॉन्टेक्ट में आए बिना ही आपको विमान तक पहुंचाने की कोशिश की जा रही है. एयरपोर्ट परिसर में हर किसी को मास्क और फेसगार्ड पहनना अनिवार्य है. हर किसी को एक दूरी बरकरार रखनी है. 

ये भी पढ़ें- यात्रीगण ध्यान दें: 1 जून से चलने वाली ट्रेनें इन स्टेशनों पर रुकेंगी, लिस्ट आई सामने

एयरपोर्ट पर आते ही आपका बॉडी टेंपरेचर लिया जाएगा. इसके बाद आपको अपने फोन में आरोग्य सेतु एप्लीकेशन दिखाना होगा. जिसमें आप फिट हैं और सुरक्षित हैं दर्शाया गया है. आपको एयरपोर्ट पहुंचने से पहले वेब चेकइन करना होगा. हर जगह सेंसर से चलने वाला सेनेटाइजर है. फ्लोर मैट आपके पैर के जूतों में लगे कीटाणु को नष्ट करेगा. काउंटर पर बोर्डिंग पास स्कैन होगा और आपको अपना पहचान पत्र मैग्निफाइंग ग्लास में दिखाना होगा.

एयरपोर्ट के आने के बाद अगर आपको काउंटर से बोर्डिंग पास लेना है और सामान चेकइन करवाना है तो एयरलाइन के काउंटर पर आने पर भी एक दूरी बरकरार रखनी होगी. एयरलाइन स्टॉफ और ग्राहक के बीच में शीशे का एक पार्टिशन रखा गया है जिससे फासला बना रहे. सामान को एयरलाइन के जरिए सेनेटाइज भी किया जाता रहता है हर आधे घंटे में. एयरपोर्ट परिसर में फासले बनाए रखने के लिए वेटिंग लाउन्ज के सीटों के बीच अंतर बनाया गया है. इसके साथ ही परिसर में अगर मास्क और ग्लब्स फेंकने हैं तो उसके लिए पीले डब्बे का इस्तेमाल करना होगा. एयरपोर्ट के वॉश रूम में दूरी बनाए रखने के लिए वॉश बेसिन को बीच अंतराल किया गया है. 

ये भी पढ़ें- कोरोना संक्रमित कैंसर रोगियों के लिए मलेरिया की दवा खतरनाक

हर दरवाजे को पार करने के बाद अब सिक्योरिटी दरवाजे तक आते हैं. एयरपोर्ट पर सोशल डिस्टेंस बरकरार रखने के हर संभव प्रयास किए गए हैं. सिक्योरिटी चेकइन में सामन ट्रे में डालना होगा जिसे सीआईएसएफ के लोग छड़ी के माध्यम से आगे सरकाएंगे.

ये भी देखें... 

स्कैनर से गुजरते समय अगर आवाज आई तभी आपकी हैन्ड डिवाइस से चेकिंग होगी. यहां भी बोर्डिंग पास आपको केवल दूर से मैग्निफाइंग ग्लास पर ही दिखाना होगा. एयरक्राफ्ट में प्रवेश आपको बोर्डिंग गेट से करना होगा जहां बोर्डिंग पास को दूर से ही दिखाना होगा. अगर आप कहीं और से सफर करके आए हैं तो कुछ आवाजें आप को एयरपोर्ट परिसर में जरूर सुनाई देंगी. जिसमें आपको सोशल डिस्टेंस मेंटेन करने के लिए कहा जाएगा. 

कहीं और से सफर करके आए लोगों के हाथ पर स्टैंप लगाया जा रहा है जिसमें लिखा है कि आप 14 दिनों तक घर में रहेंगे. अगर शरीर का तापमान ज्यादा है तो बीएमसी अधिकारियों को इसकी सूचना दी जाएगी और वो बाहर से यात्रा कर आए शख्स को क्वारंटीन सेंटर भेजा देंगे.