close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'370 का समर्थन करने वाले बताएं, उन्‍होंने 70 साल में इसे स्‍थायी क्‍यों नहीं किया'

73वें स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से देश को लगातार छठी बार संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चुनाव बाद नई सरकार बनने को अभी 10 हफ्ते ही हुए हैं लेकिन इस बीच सरकार ने आर्टिकल 370 और 35A को हटाकर सरदार पटेल के सपने को पूरा किया.

'370 का समर्थन करने वाले बताएं, उन्‍होंने 70 साल में इसे स्‍थायी क्‍यों नहीं किया'

नई दिल्‍ली: 73वें स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से देश को लगातार छठी बार संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चुनाव बाद नई सरकार बनने को अभी 10 हफ्ते ही हुए हैं लेकिन इस बीच सरकार ने आर्टिकल 370 और 35A को हटाकर सरदार पटेल के सपने को पूरा किया.जो काम 70 साल में नहीं हुआ, उसको 70 दिन में पूरा कर दिया. हम न समस्‍याओं को पालते हैं, न ही टालते हैं. ट्रिपल तलाक पर कानून बनाकर मुस्लिम महिलाओं के आंसू पोंछे. आतंकवाद से निपटने के लिए संबंधित कानूनों को मजबूत किया. दोनों सदनों ने 2/3 बहुमत से पारित कर दिया. इसका मतलब सबके दिलों में ये बात थी. आपने जो काम दिया है उसी को करने आया हूं, मेरा अपना कुछ नहीं है.

73वें स्वतंत्रता दिवस पर फिर दिखा PM मोदी का साफा प्रेम, इस बार पहना खास बहुरंगी साफा

पीएम मोदी ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर के पुनर्गठन के लिए आगे बढ़े. जब इच्छित परिणाम नहीं मिले तो अलग सोचना चाहिए. इस आर्टिकल ने अलगाववाद को जन्म दिया है, आतंकवाद को, परिवारवाद को पोषा है. भ्रष्टाचार को बढ़ाने का काम किया है. देश के दलितों को जो लाभ मिलता था वो JK को लोगों को नहीं मिलता था. वहां के सफाई कर्मचारी को नहीं मिलता था. भारत का विभाजन हुआ, लाखों लोग विस्थापित हुए, जो जम्‍मू-कश्‍मीर में बसे उनको अधिकार नहीं मिला.

LIVE: PM मोदी बोले, 'मेरे लिए देश का भविष्‍य ही सबकुछ है, राजनीतिक भविष्‍य कुछ भी नहीं'

LIVE TV

पीएम मोदी ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर सुख समृद्धि के लिए भारत के लिए प्रेरक बन सकता है. पुराने दिन लौटाने के लिए प्रयास करें. नई व्यवस्था लोगों के लिए बनी है. वहां का आम नागरिक देश की सरकार से सीधे सीधे पूछ सकता है. 35ए 370 को हटाने के लिए-प्रखर रूप से तो कोई मूक रूप से समर्थन देता रहा है लेकिन चुनाव को तराजू से तौलने वाले लोग कुछ न कुछ कहते रहते हैं. जो लोग 370 की वकालत करते हैं, देश उनसे पूछ रहा है कि यदि 370 और 35ए इतना अनिवार्य था तो 70 साल के बाद भी भारी बहुमत होने के बाद भी इस प्रावधान को स्‍थायी क्यों नहीं किया? यह अस्‍थायी (Temporary) क्यों था? आप भी जानते थे कि जो हुआ है सही नहीं हुआ है, सुधार करने के लिए इरादा नहीं था, राजनीति पर सवाल उठते थे, मेरे लिए देश सब कुछ है राजनीति कुछ नहीं होता है.

LIVE: 73वां स्वतंत्रता दिवस, हमें जनसंख्या विस्फोट की चिंता करनी होगीः प्रधानमंत्री मोदी

तीन तलाक
पीएम मोदी ने कहा कि मुस्लिम बहन बेटियों के सिर पर तीन तलाक लटकती रहती थी. ये भय जीने नहीं देता था, दुनिया के कई इस्लामिक देश ने इस कुप्रथा को खत्म कर दिया लेकिन किसी न किसी कारण हम मुस्लिम महिलाओं को हक देने में कतराते थे. यदि हम सती प्रथा, बाल विवाह, भूण हत्या के खिलाफ आवाज उठा सकते हैं तो इसके खिलाफ क्यों नहीं? बाबा साहब का सम्मान करते हुए भारत के सपने को पूरा किया. ये निर्णय राजनीतिक तराजू पर नहीं देखना चाहिए.