PM मोदी ने आध्‍यात्मिक गुरू सद्गुरू का VIDEO किया शेयर- 'नागरिकता कानून पर भ्रम दूर करें लोग'

नागरिकता कानून (CAA) को लेकर देश में चल रही बहस के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने आध्‍यात्मिक गुरू सद्गुरू का वीडियो ट्वीट किया है.

PM मोदी ने आध्‍यात्मिक गुरू सद्गुरू का VIDEO किया शेयर- 'नागरिकता कानून पर भ्रम दूर करें लोग'

नई दिल्‍ली: नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act- CAA) को लेकर देश में चल रही बहस के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने आध्‍यात्मिक गुरू सद्गुरू का वीडियो ट्वीट किया है. इसके माध्‍यम से पीएम मोदी ने कहा है कि इस वीडियो को देखकर लोग नागरिकता कानून पर अपने भ्रम को दूर करें. पीएम मोदी ने कहा कि सद्गुरू ने ऐतिहासिक आख्‍यानों के माध्‍यम से हमारी भाईचारे की संस्‍कृति पर प्रकाश डाला है. उन्‍होंने इस बारे में निहित स्‍वार्थों वाले समूहों के दुष्‍प्रचार के बारे में भी बताया है. इसके साथ ही पीएम मोदी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि #IndiaSupportsCAA पर समर्थन दें. इस तरह पीए मोदी ने नागरिकता कानून के समर्थन में एक कैंपेन का आगाज किया है.

इसी कड़ी में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी ट्वीट कर कहा कि यह कानून किसी भारतीय की नागरिकता को नहीं छीनता. विपक्ष मुस्लिमों को डराने, धमकाने का काम नहीं करे. वरिष्‍ठ बीजेपी नेता शिवराज सिंह चौहान ने इस संबंध में कहा कि देश जानता है कि पाकिस्तान से हमारे अल्पसंख्यक भाई-बहन कैसी-कैसी यातनाएं झेल कर भारत आये हैं. 'सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास' ही बीजेपी की मजबूती का कारण है. हम किसी भी कीमत पर उन्हें न्याय दिलायेंगे और उन्हें सारी बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराएंगे. मेनका गांधी ने भी इसके समर्थन में ट्वीट करते हुए कहा कि 70 सालों से जो लोग प्रताडि़त हो रहे हैं, मोदी सरकार ने उनके साथ न्‍याय किया है.

वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने हिंदी ज़ुबान के महान कवि दुष्यंत कुमार को उनकी पुण्यतिथि पर याद करते हुए परोक्ष रूप से मोदी सरकार पर हमला साधा है. उन्‍होंने दुष्‍यंत कुमार की पंक्तियां शेयर कीं:
'आज यह दीवार, परदों की तरह हिलने लगी
शर्त लेकिन थी कि ये बुनियाद हिलनी चाहिए

सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीं
सारी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए'

ZEE NEWS की मुहिम
इस बीच ZEE NEWS के सीएए के संबंध में अभियान ने इतिहास रच दिया है. नागरिकता कानून के समर्थन में जो MISSED CALL अभियान शुरू किया था, उन मिस्ड कॉल की संख्या 1 करोड़ के पार हो गई है. आप अंदाजा लगाइये 1 करोड़ से ज्यादा मिस्ड कॉल, और बड़ी बात ये है कि देश के अलग-अलग हिस्सों से तो कॉल आई ही हैं, इसके अलावा विदेश से भी कॉल आई हैं. इससे बहुत साफ है कि देश नागरिकता कानून के समर्थन में है और उसके zEE NEWS के मंच के जरिए अपनी बात पहुंचाई. ये आवाज़ कह रही है कि न्यूज़ इतिहास में अबतक के इस सबसे बड़े डिजिटल आंदोलन और सबसे बड़े सर्वे ने देश ने देशहित के मुद्दे पर दिल खोल कर समर्थन दिया और अपनी बात बुलंद करके बता दिया कि समाज में हिंसा की कोई जगह नहीं है.