NASA ने की ISRO की तारीफ कहा- हमें आपके चंद्रयान-2 मिशन से मिली प्रेरणा

नासा, यूएई स्पेस एजेंसी और ऑस्ट्रेलियाई स्पेस एजेंसी ने ISRO के प्रयास को सराहा है.

NASA ने की ISRO की तारीफ कहा- हमें आपके चंद्रयान-2 मिशन से मिली प्रेरणा
चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का संपर्क चांद पर उतरने से पहले संपर्क टूट गया. (फोटो साभार: twitter/ISRO)

नई दिल्ली: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (ISRO) के चंद्रयान-2 मिशन की अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने तारीफ की है. नासा ने अपने ट्वीट में लिखा, ''अंतरिक्ष में शोध करना मुश्किल काम है. हम चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर इसरो के चंद्रयान-2 मिशन को उतारने के प्रयास की सराहना करते हैं. आपने हमें अपनी यात्रा से प्रेरित किया है और भविष्य में हम सौरमंडल पर मिलकर काम करने के अवसर के लिए तत्पर हैं.'' 

यूनाइटेड अरब अमीरात की स्पेस एजेंसी ने ट्वीट कर कहा, ''चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम, जिसे चंद्रमा पर उतरना था, से संपर्क टूटने के बाद हम इसरो को अपने पूरे सहयोग का आश्वासन देते हैं. भारत अंतरिक्ष के क्षेत्र में एक रणनीतिक खिलाड़ी साबित हुआ और इसके विकास एवं उपलब्धि में भागीदार है.''

इसके अलावा ऑस्ट्रेलियाई स्पेस एजेंसी ने ट्विटर के जरिए लिखा, ''विक्रम लैंडर, चंद्रमा पर अपने मिशन को साकार करने के लिए कुछ किलोमीटर की दूरी पर था. इसरो हम आपकी टीम के प्रयासों और अंतरिक्ष में यात्रा जारी रखने की प्रतिबद्धता की सराहना करते हैं.''

चंद्रयान-2: इसरो प्रमुख के. सिवन ने कहा, 'लैंडर से 14 दिन में फिर संपर्क करने की कोशिश करेंगे'
गौरतलब है कि भारत के चंद्रयान-2 मिशन को शनिवार तड़के उस समय झटका लगा, जब लैंडर विक्रम से चंद्रमा की सतह से महज दो किलोमीटर पहले इसरो का संपर्क टूट गया. लैंडर 'विक्रम' के चांद की सतह को छूने से चंद मिनटों पहले जमीनी स्टेशन से उसका संपर्क टूटने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि वे मिशन में आई रुकावटों के कारण अपना दिल छोटा नहीं करें, क्योंकि 'नई सुबह होगी और बेहतर कल होगा.