एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप : नवजोत ने जीता देश का पहला स्वर्ण पदक

एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में पहलवान नवजोत कौर महिलाओं के 65 किलोग्राम फ्री स्टाइल वर्ग के फाइनल में देश के लिए पहला स्वर्ण पदक जीतने में कामयाब रही. 

एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप : नवजोत ने जीता देश का पहला स्वर्ण पदक
नवजोत ने एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में जीता देश का पहला स्वर्ण
Play

बिश्केक : एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में पहलवान नवजोत कौर महिलाओं के 65 किलोग्राम फ्री स्टाइल वर्ग के फाइनल में जापान की मिया इमाई को मात देकर देश के लिए पहला स्वर्ण पदक जीतने में कामयाब रही. इसी के साथ नवजोत सीनियर एशियाई चैम्पियपशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली देश की पहली महिला पहलवान बनीं. उन्होंने एकतरफा मुकाबले में जापान की पहलवान को 9-1 से शिकस्त दी. 

भारत ने अब तक जीता 6 पदक
रियो ओलंपिक में कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक ने 62 किग्रा फ्री स्टाइल वर्ग में कजाखस्तान की अयालीम कासीमोवा को करीबी मुकाबले में 10-7 से हराकर कांस्य पदक अपने नाम किया. इस जीत से चैम्पियपशिप में भारत के पदकों की संख्या छह हो गई जिनमें एक स्वर्ण, एक रजत और चार कांस्य पदक हैं.

इससे पहले विनेश फोगाट को 50 किलोग्राम भार वर्ग के फाइनल में चीन की चुन लेई से हार कर रजत पदक से संतोष करना पड़ा. राष्ट्रमंडल खेलों की स्वर्ण पदक विजेता विनेश को चीन की खिलाड़ी ने 3-2 से शिकस्त दी. टूर्नामेंट में एक अन्य भारतीय पहलवान संगीता (59 किग्रा) कोरिया की जियुन उम को पटखनी देकर कांस्य पदक अपने नाम करने में कामयाब रहीं. 

ये भी पढ़ें- कोरिया दौरे के लिए भारतीय महिला हॉकी टीम की कमान रानी को

जापानी रेसलर को नवजोत ने ऐसे हराया 
नवजोत ने सेमीफाइनल में मंगोलिया की सेवेजमेड एनख्बायर को 2-1 से मात दिया था और फाइनल में प्रवेश किया था. नवजोत ने फाइनल में दो मिनट के अंदर ही दो अंक की बढ़त हासिल की और इसके बाद जल्द ही स्कोर 5-0 से अपने पक्ष में कर लिया. नवजोत ने जापान की मिया को वापसी का कोई मौका नहीं दिया, लेकिन जापानी रेसलर ने एक अंक हासिल करते हुए स्कोर 1-5 कर दिया. उसके बाद जल्द ही नवजोत ने दो अंक हासिल करके स्कोर 7-1 कर लिया. नवजोत ने मुकाबला को 9-1 से अपने पक्ष में किया और जीत हासिल कर लिया.  

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.